कंगना ने कहा “हाथ जोड़कर निवेदन है कि मुझे बैन कर दो” एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट गिल्ड ऑफ इंडिया ने किया कंगना का बायकॉट

बॉलीवुड डेस्क:

पत्रकार जस्टिन राव और कंगना रनोट के बीच का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को जहां एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट गिल्ड ऑफ इंडिया नाम की संस्था ने एक लेटर जारी कर कंगना का बायकॉट करने का ऐलान किया, तो वहीं अब खुद कंगना ने अपने बैन की रिक्वेस्ट की है। उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा है, “मैं आपसे हाथ जोड़कर निवेदन करती हूं कि मुझे बैन कर दो। क्योंकि मैं नहीं चाहती कि मेरी वजह से तुम्हारे घर का चूल्हा जले।” कंगना ने यह निशाना मीडिया के एक वर्ग विशष साधा।

कंगना ने मीडिया की तारीफ भी की

वीडियो की शुरुआत कंगना ने मीडिया की तारीफ के साथ की है। वो कह रही हैं, “आज मैं आपसे इंडियन मीडिया के बारे में बात करना चाहती हूं। हर जगह बुरे और अच्छे लोग होते हैं। मीडिया ने अक्सर मुझे बढ़ावा दिया है और प्रेरित किया है। मीडिया में मुझे अच्छे दोस्त और मार्गदर्शक मिले हैं। मेरी सफलता में उनका बहुत बड़ा हाथ है और मैं हमेशा उनकी आभारी रहूंगी।” इसके बाद कंगना के बोलने की टोन एकदम बदल गई।

मीडिया के एक सेक्शन को बताया दीमक

कंगना ने आगे कहा, “एक सेक्शन मीडिया का है, जो हमारे देश में दीमक की तरह लगा हुआ है और धीरे-धीरे करके उसकी गरिमा को, उसकी अस्मिता को, देश की इंटीग्रिटी को, देश की एकता को आए दिन अटैक करता रहता है। आए दिन झूठी अफवाहें फैलाते रहते हैं। अपने गंदे-भद्दे विचार, देश्द्रोहिता के विचार खुलकर सबके सामने रखते हैं। इनके खिलाफ हमारे संविधान में न किसी तरह का कोई हर्जाना है और न ही कोई सजा है।”

“इस चीज से मुझे बहुत ज्यादा ठेस लगी। ये जो दोगली मीडिया है, बिकाऊ मीडिया है, जो खुद को सेकुलर और लिबरल कहती है, कुछ नहीं है। 10वीं फेल भी नहीं हैं ये लोग। ये छद्म सेकुलर हैं। अगर ये सेकुलर होते तो धार्मिक चीजों को लेकर देश की एकता पर हमेशा प्रहार नहीं करते।”

बिना नाम लिए लगाए जस्टिन पर आरोप

कंगना ने बिना नाम लिए जस्टिन राव पर आरोप लगाया कि वो और उनके जैसे ही दूसरे पत्रकार हमेशा उनके काम का मजाक उड़ाते रहे हैं। उनके मुताबिक, “जब मैंने विश्व पर्यावरण दिवस पर प्लास्टिक बैन को लेकर कैंपेन किया, तब इस जर्नलिस्ट को मैंने उसकी खल्ली मैंने उड़ाते देखा। जानवरों पर अत्याचार के विरोध में कैंपेन चलाया तो इसने उसका भी मजाक उड़ाया। एक शहीद पर फिल्म बनाई तो उसके नाम की भी यह खिल्ली उड़ा रहा था।”

कंगना ने पत्रकारों को बताया प्रोफेशनल ट्रोल

कंगना ने ऐसे पत्रकारों को प्रोफेशनल ट्रोल और मुफ्त का खाना खाने वाला बताया। साथ ही कहा कि उन्हें बैन की धमकी देने वाली संस्था (एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट गिल्ड ऑफ इंडिया) संस्था दो दिन पहले ही बनी है, जिसकी कोई मान्यता नहीं है। उन्होंने अपने बैन की रिक्वेस्ट करते हुए कहा, “तुम लोगों को खरीदने के लिए लाखों भी नहीं चाहिए। तुम लोग तो इतने सस्ते हो 50-60 रुपए में बिक जाते हो। “जो लोग अपने देश के साथ गद्दारी करे, जिस थाली में खाते हैं, उसी में छेद करते हैं, तुम जैसे लोग मुझे बर्बाद करोगे। तुम लोगों के बाप-दादाओं को भी मैंने लोहे के चने चबवाए हैं। अगर तुम जैसे लोगों कि चलती तो मैं आज बॉलीवुड कि टॉप और सबसे महंगी एक्ट्रेस नहीं होती।”