ग्रेटा थन्बर्ग के उठाए मुद्दों का रोहित शर्मा ने पुरजोर समर्थन किया, बोले युवा क्लाइमेट एक्टिविस्ट हमारी प्रेरणा

नई दिल्ली:

संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन में 16 साल की ग्रेटा थन्बर्ग के उठाए मुद्दों का रोहित शर्मा ने पुरजोर समर्थन किया है। टीम इंडिया के इस ओपनर ने इस युवा क्लाइमेट एक्टिविस्ट को प्रेरणा भी बताया। ग्रेटा का भाषण सुनने के बाद रोहित ने अपने विचार ट्विटर पर साझा किए। स्वीडन की रहने वाली ग्रेटा ने जलवायु सम्मेलन में वैश्विक नेताओं को चेतावनी दी थी। जलवायु परिवर्तन पर उन्होंने कहा था- मुझे इस समय स्कूल में होना चाहिए, लेकिन हालात की गंभीरता के चलते वह इस मंच पर खड़ी हुई हूं।

अब कोई बहाना नहीं चलेगा

ग्रेटा का भाषण सुनने के बाद रोहित ने एक ट्वीट किया। कहा, “धरती को बचाने का जिम्मा हमारे बच्चों पर छोड़ना पूरी तरह गलत है। ग्रेटा आप हमारे लिए प्रेरणा हैं। अब कोई बहाना नहीं चलेगा। हमें आने वाली पीढ़ी के लिए सुरक्षित ग्रह देना होगा। अब बदलाव का वक्त है।” रोहित ने अपने ट्वीट में ग्रेटा को टैग करते हुए विचार व्यक्त किए। युवा थन्बर्ग अब दुनियाभर में जलवायु परिवर्तन के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम का चेहरा बन गई हैं। उन्होंने ग्लोबल वॉर्मिंग के मुद्दे को भी दमदार अंदाज में सामने रखा। रोहित दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2 अक्टूबर से शुरू हो रही टेस्ट सीरीज में सलामी बल्लेबाज के तौर पर नजर आ सकते हैं।

वैश्विक नेताओं को चेतावनी

ग्रेटा ने अपने भाषण में कहा था, “ अगर जलवायु परिवर्तन से जूझने में दुनियाभर के नेता विफल रहे, तो युवा पीढ़ी उन्हें कभी माफ नहीं करेगी। मुझे इस समय स्कूल में होना चाहिए, लेकिन हालात की गंभीरता के चलते वह इस मंच पर खड़ी हुई हूं। आपने अपने खोखले शब्दों से मेरा बचपन, मेरे सपने छीन लिए। लोग मर रहे हैं। पर्यावरण ध्वस्त हो रहा है। हम सामूहिक विनाश की कगार पर हैं और आप पैसे और आर्थिक विकास की बात कर रहे हैं। आपकी ऐसा करने की हिम्मत कैसे हुई? 30 सालों के वैज्ञानिक आंकड़े हमारे सामने हैं, लेकिन समस्या से निपटने के लिए राजनैतिक कोशिश और समाधान कहीं नजर नहीं आते। युवा पीढ़ी अब वैश्विक नेताओं की चाल समझने लगी है।