देवती ने भीमा के बुजुर्ग माता पिता के साथ काफी वक्त बैठकर दर्द बांटा; कहा- अपनों को खोने का दर्द समझ सकती हूँ

दंतेवाड़ा:

चुनाव प्रचार के लिए कांग्रेसी प्रत्याशी देवती कर्मा सोमवार को विधायक भीमा मंडावी के गांव गदापाल पहुंची। यहाँ सबसे पहले वे भीमा मंडावी के घर पहुंची, यहां भीमा के मां- पिता से मिलीं। देवती ने भीमा के बुजुर्ग माता पिता के साथ काफी वक्त बैठकर दर्द बांटा।

देवती रिश्ते में भीमा मंडावी की मां की भतीजी लगती हैं। देवती ने कहा कि अपनों को खोने का दर्द क्या होता है ये वही समझ सकता है जिसने अपनों को खोया है। आप लोगों ने अपना बेटा खोया उसका दर्द मैं समझ सकती हूं क्योंकि मैंने भी अपना पति खोया है। आज आप दोनों से मिलकर मेरा ज़ख्म फिर से हरा हो गया। ऐसा कहते हुए देवती काफी भावुक होकर रो पड़ी। देवती कर्मा ने स्व. भीमा मण्डावी की माता को सांत्वना देते हुए कहा कि ईश्वर की इच्छा के आगे हम सभी नतमस्तक हैं। आप दोनों अपना ख्याल रखें।

देवती कर्मा के साथ गदापाल पहुंचे बीजापुर विधायक विक्रम मण्डावी ने कहा कि देवती कर्मा के व्यवहार को देखकर स्व. महेन्द्र कर्मा की याद आ गई। उन्होंने भी हमेशा पार्टीगत राजनीति से उठकर काम किया। विक्रम ने आगे कहा कि देवती कर्मा का ह्रदय बहुत बड़ा है। उनसें किसी का दर्द देखा नहीं जाता वह पूरी जनता को अपना परिवार समझती हैं।