मध्य प्रदेश; नदी में अचानक आयी बाढ़ , पुलिया निर्माण में लगे 7 मजदूर फंसे, जानिए पूरी ख़बर

इंदौर:

रविवार दोपहर मालवा-निमाड़ में हुई जोरदार बारिश से बुरहानपुर की सुकी नदी में बाढ़ आ गई। नदी पर पुलिया के निर्माण कार्य में लगे 7 मजदूर बाढ़ के मध्य फंस गए। प्रशासन ने रेस्क्यू ऑपरेशन द्वारा मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकाला।

जानकारी के मुताबिक, बुरहानपुर के निंबोला के बसाड़ गांव के पास सुकी नदी पर पुलिया के निर्माण का कार्य किया जा रहा है। रविवार को भी मजदूर निर्माण कार्य में लगे थे, तभी जोरदार बारिश के चलते सूखी नदी में अचानक बाढ़ आ गई। नदी का पानी इतनी तेजी से बढ़ा की पुल निर्माण कार्य में लगे 7 मजदूर बाढ़ के बीच फंस गए।

मामले की जानकरी लगते ही जिला कमांडेन्ट रोशनी बीलवाल के निर्देशन में क्यूआरटी टीम प्रभारी कैलाश चौहान अपनी टीम और बचाव सामग्री के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। वहीं, पुलिस भी स्थानीय लोगों की मदद से मजदूरों को सुरक्षित निकालने का कार्य प्रारंभ किया। लगभग 2 घंटे की मशक्कत के बाद मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

इन मजदूरों को बचाया

सुकी नदी की बाढ़ से रेस्क्यू टीम द्वारा रामप्रसाद यादव निवासी कटनी, पूनम पिता समना, घनश्याम पिता भोलाराम,रामसेवक पिता भोलाराम निवासी कटनी, श्रीधर पिता राजकिशोर निवासी उड़ीसा, श्रवण पिता पन्नालाल निवासी नीमच, गणेश पिता तोताराम गोस्वामी निवासी नागझीरा को सुरक्षित बाहर निकाला गया।

बिजली गिरने से हुई थी 4 की मौत

बुरहानपुर जिले के निंबोला थाने के तहत आदिवासी बहुल गांव डोझर में दो दिन पहले मूसलाधार बारिश के बीच दो स्थानों पर बिजली गिरने से 4 लोगों की मौत हो गई थी। मृतकों में एक ही परिवार के 3 सदस्य शामिल थे।