मनुराज टॉकीज मैनेजर की मौत; छेड़खानी के विरोध में पेट्रोल डालकर लगाई थी आग

मुंगेली:

छेड़खानी के विरोध में पेट्रोल डालकर जलाए गए मनुराज टॉकीज के मैनेजर ओम प्रकाश की मंगलवार देर रात मौत हो गई। छत्तीसगढ़ी मूवी हंस झन पगली फंस जबे के दौरान सप्ताहभर पहले जमकर हंगामा हुआ था। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची थी और आरोपियों को पकड़ भी लिया था, लेकिन उन्हें थाने ले जाकर छोड़ दिया। इसके बाद आरोपी फिर मौके पर पहुंचे और काउंटर में घुसकर हमला कर दिया। पुलिस ने मैनेजर की मौत के बाद आरोपियों पर हत्या का

मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पुलिस ने घटना के तीन दिन बाद सात लोगों को किया था गिरफ्तार

दरअसल, शहर के मनुराज टॉकीज में 2 जुलाई को शो के दौरान लगातार भीड़ का दबाव बना हुआ था। पुलिस से सहयोग मांगा गया, पर मिला नहीं। शो के दौरान दो व्यक्ति सिनेमा देख रही महिला के साथ छेड़खानी कर रहे थे। जिस पर टॉकीज के कर्मचारियों ने युवकों को मना किया। कर्मचारियों ने युवकों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने तो घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। इस पर पुलिस टॉकीज पहुंची तो दोनों में से एक युवक फरार हो गया और दूसरे पुलिस थाने ले गई।

हालांकि कुछ देर बाद पुलिस ने नाबालिग होने का हवाला देते हुए आरोपी को छोड़ दिया। आरोप है कि इसके बाद ही दो युवक बदले की नीयत से टॉकीज पहुंचे और टिकट काउंटर पर बैठे कर्मचारी ओमप्रकाश पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। इस पर वह चिल्लाता  हुआ काउंटर से बाहर भागा। उसे बचाने के प्रयास में एक अन्य कर्मचारी सलारू भी चपेट में आकर झुलस गया। पुलिस ने इस मामले में घटना के तीन दिन बाद आरोपी सौरभ चौहान सहित सात लोगों को गिरफ्तार किया था।