महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागु, फैसले के खिलाफ शिवसेना पहुंची सुप्रीम कोर्ट

मुंबई:

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के नतीजों के 19 दिन बाद आखिरकार राष्ट्रपति शासन लग गया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश को मंजूरी दे दी है. इससे पहले महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यिारी ने राज्य की मौजूदा हालत की रिपोर्ट केंद्र को भेजी थी. रिपोर्ट में उन्होंने कहा था कि संविधान के मुताबिक राज्य में सरकार नहीं बन सकती है. उन्होंने रिपोर्ट में राष्ट्रपति शासन लागू करने की सिफारिश की थी. नरेंद्र मोदी कैबिनेट ने राज्यपाल के इस सिफारिश को अपनी स्वीकृति दे दी थी, इसके बाद गृह मंत्रालय ने इस फाइल को राष्ट्रपति के पास भेज दी थी. राष्ट्रपति ने राज्य में संविधान की धारा-356 के तहत राष्ट्रपति शासन लागू कर दिया है. वहीं शिवसेना ने अचानक राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.