राजधानी मेयर पद के लिए कांग्रेस संगठन ने सुझाये मापदंड – जानिए कैसे तय होगा नाम

रायपुर : राजधानी रायपुर का मेयर कौन होगा यह फैसला अब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पास सुरक्षित है. रायपुर के नवनिर्वाचित पार्षदों ने एक सुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा मेयर चुनना तय किया है. आज शाम पार्षदों की बैठक मुख्यमंत्री निवास में आयोजित की गई और सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया.

इस बैठक की ठीक बाद सूत्रों के हवाले से ख़बर मिली की राजधानी के मेयर को लेकर संगठन से कुछ मापदंड दिए है. वरिष्ट नेताओं से लेकर पार्षदों तक यह सन्देश पंहुचा दिया गया है. जो इन मापदंडो पे खरा उतरेगा वही मेयर बनेगा.

मापदंड इस प्रकार है:-

  • मेयर के दावेदार को रायपुर के तीनों कांग्रेस विधायकों का समर्थन जरूरी है.
  • ज्यादा से ज्यादा कांग्रेस पार्षद संबंधित दावेदार के पक्ष में हों.
  • दावेदार राजनैतिक तथा राजधानी के नगर निगम को चलाने लायक परिपक्व होना चाहिए.
  • सत्तापक्ष के लोगों के साथ-साथ विपक्ष को साधने का हुनर होना भी जरूरी है.

ये संकेत तब आये है जब राजधानी में मेयर बनाने के लिए कांग्रेस के पास पर्याप्त संख्या बल मौजूद है. सूत्रों ने इस पुरे घटनाक्रम का मतलब यह निकला है की मेयर का नाम संगठन एवं मुख्यमंत्री ने सोच रखा है.