राशनकार्ड फर्जीवाड़ा में टॉपर है ये छत्तीसगढ़ का ये जिला ; जानिए वजह

बिलासपुर:

राशन कार्ड के फर्जीवाड़ा में प्रदेश में बिलासपुर जिला टॉप पर है। जिले में डेढ़ लाख राशन कार्डधारक ऐसे है, जिसने या तो आधार नम्बर गलत दिया या फिर सत्यापन में फर्जी मिला। 1.42 लाख राशनकार्ड सत्यापन के दौरान फर्जी मिला था। अचरज की बात ये है कि वोटबैंक के चक्कर में पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने कार्ड को निरस्त नहीं किया था।

अब यही कार्डधारी सरकार व प्रशासन के लिए गले की फांस बन गया है। पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने राशनकार्ड को आधार नंबर से लिंक करने का आदेश जारी किया था। इस दौरान बड़ी संख्या में हितग्राहियों ने जानकारी छिपा ली थी, लेकिन जिन्होंने जानकारी दी, उनका आधार नंबर सही नही पाया गया था।

एक व्यक्ति के दो-दो जगह राशन कार्ड

आधार सीडिंग के दौरान एक और गड़बड़ी सामने आई थी। गांव से रोजगार के लिए शहर आने वाले और झुग्गी बस्ती में बसने वालों ने चालाकी करते हुए शहर में भी गुपचुप तरीके से राशन कार्ड बनवा लिया है। आधार नंबर के जरिये जब खुलासा हुआ कि जिले में 50 हजार से ज्यादा ऐसे कार्डधारी मिले जिनका दो-दो जगह राशन कार्ड है। मजे की बात है कि ये कार्डधारी दोनों जगह से हर महीने राशन उठा रहे हैं।