वाहन उद्योग में लंबे समय से चल रहा नरमी का दौर जून में भी रही जारी

नई दिल्ली:

वाहन उद्योग में लंबे समय से चल रहा नरमी का दौर जून में भी जारी रहा. ग्राहकों की कमजोर धारणा के चलते प्रमुख वाहन विनिर्माता कंपनियों मारुति सुजुकी, हुंदै, टाटा मोटर्स और टोयोटा के यात्री वाहनों की बिक्री में गिरावट का सिलसिला जून में भी बरकरार रहा. हालांकि, पिछले महीने महिंद्रा एंड महिंद्रा के घरेलू यात्री वाहनों की बिक्री में चार प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी. देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया की घरेलू बिक्री जून माह में 15.3 प्रतिशत घटकर 1,14,861 वाहन रही जो इससे पिछले साल इसी अवधि में 1,35,662 वाहन थी. ऑल्टो, पुरानी वैगनआर जैसी छोटी गाड़ियों की श्रेणी में कंपनी की बिक्री 36.2 प्रतिशत घटकर 18,733 वाहन रही जो पिछले साल जून में 29,381 वाहन थी. इसी तरह कॉम्पैक्ट श्रेणी में नयी वैगन आर, सेलेरियो, इग्निस, स्विफ्ट, बलेनो और डिजायर समेत अन्य गाड़ियों की बिक्री 12.1 प्रतिशत घटकर 62,897 वाहन रही जो पिछले साल इसी महीने में 71,570 वाहन थी.

कंपनी की सेडान सियाज की बिक्री 47.1 प्रतिशत बढ़कर 2,322 वाहन रही जो पिछले साल जून में 1,579 वाहन थी.   जिप्सी, अर्टिगा, विटारा ब्रेजा, एस-क्रॉस समेत यूटिलिटी वाहन श्रेणी में कंपनी की बिक्री 7.9 प्रतिशत घटकर 17,797 वाहन और ओमिनी एवं इको मॉडल के साथ वैन श्रेणी की बिक्री 24 प्रतिशत घटकर 9,265 वाहन रही.   

मारुति की प्रतिस्पर्धी हुंदै ने एक बयान में बताया कि उसकी घरेलू बिक्री घटकर 42,007 वाहन रही जो पिछले साल जून की 45,314 वाहन बिक्री के मुकाबले 7.3 प्रतिशत कम है. महिंद्रा एंड महिंद्रा के यात्री वाहनों की बिक्री इस साल जून में चार प्रतिशत बढ़कर 18,826 इकाइयों पर रही. पिछले साल इसी महीने में कंपनी ने 18,137 वाहन बेचे थे. एमएंडएम के अध्यक्ष (वाहन क्षेत्र) राजन वढ़ेरा ने एक बयान में कहा, ”बाजार धारणा कमजोर बनी हुई है, खास तौर पर यात्री वाहन श्रेणी में. हाल में बाजार में उतारे गए तीन उत्पादों के दम पर हम यात्री वाहन वर्ग में चार प्रतिशत एवं यूटिलिटी वाहन क्षेत्र में बिक्री में आठ प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा करते हुए हमें खुशी हो रही है.”

टाटा मोटर्स की कुल बिक्री जून में 14 प्रतिशत बढ़कर 49,073 वाहन रही. पिछले साल कंपनी ने इसी माह में 56,773 वाहनों की बिक्री की थी. शेयर बाजार को दी जानकारी में कंपनी ने बताया कि यात्री वाहन श्रेणी में कंपनी की घरेलू बिक्री 27 प्रतिशत घटकर 13,351 वाहन रही जो पिछले साल जून में 18,213 वाहन थी. इसी तरह कंपनी के वाणिज्यिक वाहनों की घरेलू बिक्री इस दौरान 35,722 इकाई रही जो पिछले साल समान अवधि की 38,560 वाहन बिक्री से सात प्रतिशत कम है.   

टोयोटा किर्लोस्कर मोटर की कुल वाहन बिक्री जून में 19 प्रतिशत घटकर 11,365 वाहन रही. पिछले साल जून में कंपनी ने 14,102 वाहन बेचे थे. कंपनी ने एक बयान में बताया कि उसकी घरेलू बिक्री 19 प्रतिशत घटकर 10,603 वाहन रही जो जून 2018 में 13,088 वाहन थी. कंपनी के उप प्रबंध निदेशक एन. राजा ने कहा कि घरेलू बिक्री के मामले में वाहन उद्योग लगातार गिरावट का सामना कर रहा है.  इसके कई कारण हैं जिसकी वजह से ग्राहकों की धारणा कमजोर पड़ी है. पिछले महीने यात्री वाहनों की थोक बिक्री में 20 प्रतिशत से अधिक की गिरावट दर्ज की गयी जो पिछले 18 साल में सर्वाधिक था. पिछले 11 महीने के आंकड़ों पर गौर करें तो पिछले साल अक्टूबर को छोड़कर शेष दस महीनों में यात्री वाहनों की बिक्री में वृद्धि नकारात्मक रही. दोपहिया वाहन श्रेणी की बात करें तो बजाज ऑटो ने कहा कि इस साल जून में उसकी घरेलू बिक्री 1,99,340 वाहन रही जो जून 2018 की 2,00,949 वाहन बिक्री के मुकाबले एक प्रतिशत कम है.