सरकार शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बात करने को तैयार : कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद

  • सीएए और एनआरसी को लेकर पिछले करीब डेढ़ महीने से दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में प्रदर्शन हो रहे हैं. इस प्रदर्शन में बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल हैं.
  • प्रदर्शनकारी लगातार मोदी सरकार पर संविधान को कुचलने और लोकतंत्र को खत्म करने जैसे आरोप लगा रहे हैं.

नई दिल्ली: केंद्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि सरकार नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए तैयार है. उन्होंने कहा कि यह संरचनात्मक रूप में होनी चाहिए. कानून मंत्री ने शनिवार सुबह ट्वीट कर लिखा, “सरकार शाहीनबाग के प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए तैयार है, यह बातचीत संरचनात्मक रूप में होनी चाहिए और नरेंद्र मोदी की सरकार उनसे संवाद करने और सीएए के खिलाफ उनके सभी संदेह दूर करने के लिए तैयार है.”

शाहीन बाग में पिछले डेढ़ महीने से प्रदर्शन जारी

शाहीन बाग में पिछले करीब डेढ़ महीने से सीएए के खिलाफ प्रदर्शन का मोर्चा महिलाओं ने संभाला हुआ है. विरोध-प्रदर्शन को प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से कई सामाजिक संगठनों और राजनीतिक दलों ने समर्थन दिया है. यही वजह है कि दिल्ली के विधानसभा चुनाव में शाहीन बाग का प्रदर्शन एक बड़ा मुद्दा बनकर उभरा है. शाहीन बाग पर खूब चर्चा भी हो रही है.

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जबतक सरकार इस कानून को वापस नहीं लेती, तबतक उनका प्रदर्शन जारी रहेगा. शाहीब बाग की तर्ज पर देश के कई राज्यों में प्रदर्शन हो रहे हैं. मुंबई के नागपाड़ा इलाके में कल आधी रात से प्रदर्शन हो रहा है. यहां भी बड़ी संख्या में महिलाएं सड़क पर डटीं हुई हैं.