ROAD ACCIDENT | दर्दनाक सड़क हादसे में 17 लोगो की मौत, तीन सगे भाई भी थे शामिल, सीएम ने 2-2 लाख आर्थिक सहायता देने की घोषणा की

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर नगर से कुछ दूर सचेंडी थाना क्षेत्र के पास तेज गति से जा रही एक बस ने लोडर को जोरदार टक्कर मार दी। इस हादसे में 17 लोगों की मौत हो गई जबकि पांच लोग घायल हो गए। जानकारी के मुताबिक इस घटना में लोडर और बस की आमने सामने टक्कर हो गई। घायलों का इलाज हैलट में चल रहा है। कुछ लोग इसमें सचेंडी के गांव से चढ़े थे। ये लोग बिस्कुट फैक्टरी में काम करते थे। यह बस लखनऊ से दिल्ली की तरफ जा रही थी। यह प्राइवेट बस थी। पीएम मोदी और सीएम योगी ने हादसे पर दुख जताया है।

पीएम मोदी ने मृतकों के परिजन को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दो-दो लाख रुपए की अनुग्रह राशि दिए जाने की घोषणा की। प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि हादसे में घायल हुए लोगों को पचास-पचास हजार रुपए दिए जाएंगे। मोदी ने मृतकों के परिजन के प्रति संवेदना प्रकट की और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर के सचेंडी क्षेत्र में सड़क दुर्घटना में लोगों की मृत्यु पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने दुर्घटना में मृतकों के परिजनों को 02-02 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की है। उन्होंने मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति की कामना की है।

मुख्यमंत्री ने इस सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्तियों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए समुचित इलाज की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचकर युद्धस्तर पर राहत कार्य सुनिश्चित कराएं। उन्होंने जिला प्रशासन को दुर्घटना के कारणों की जांच कर आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

मंगलवार को बस और टेम्पो की भिड़ंत में करीब 17 लोगों की मौत हो गई। इस हादसे में कई अन्य लोग घायल हुए हैं, जिनका इलाज हैलट में चल रहा है। घटना की सूचना मिलते ही प्रशासनिक अलमा चैकन्ना हो गया। आनन-फानन पुलिस की गाड़ियों और सचेंडी पीएचसी-सीएचसी से एंबुलेंस मौके पर पहुंची।

गाड़ियां पलटते ही उसमें बैठी सवारियों में चीख-पुकार मचने लगी। इस भयावह दृश्य को वहां मौजूद जिस किसी शख्स ने भी देखा उसके होश ही उड़ गए।

लोग मदद के लिए आगे भी आए। घटना के बाद मौके पर मौजूद लोगों ने देर न करते हुए पुलिस और कंट्रोल रूम को हादसे की जानकारी दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने टेंपो के अंदर फंसे गंभीर रूप से घायलों को सबसे पहले बाहर निकाला। इसके बाद घटनास्थल पर पहुंची दर्जनभर एंबुलेंस सभी को लेकर लाला लाजपत राय एलएलआर अस्पताल रवाना हुईं।

इस दर्दनाक हादसे में एक ही परिवार के तीन चिराग बुझा दिए । धनीराम निवासी लालहेपुर सचेंडी के तीन बेटे राम मिलन , शिव भजन और लवलेश भी उसी लोडर में सवार थे और अपनी ड्यूटी पर जा रहे थे । लेकिन किसे पता था कि अब वो वापस नही लौटेंगे । परिजनों का रो-रो कर बुरा है । एक पिता के सामने उसके तीन जवान बेटे अब इस दुनिया में नहीं रहे तो उसके दिल पर क्या बीतेगी ।

  • Mats Advt