BJP कश्मीर तो चाहती है पर कश्मीरियों को नहीं चाहती; दिग्विजय सिंह

भोपाल:

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि कश्मीर में केंद्र सरकार कुछ बड़ा करने जा रही है। लेकिन, अगर कश्मीर में जबरदस्ती करने की कोशिश हुई तो देश को काफी नुकसान होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा कश्मीर तो चाहती है पर कश्मीरियों को नहीं चाहती, ये बात दिग्विजय सिंह ने शनिवार को सीहोर में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के बाद पत्रकारों से कही।

उन्होंने कहा, ‘सरकार ने अमरनाथ यात्रा रोकने का निर्णय क्यों लिया इसे समझ नहीं पा रहे हैं। इससे लाखों लोगों को असुविधा हुई। कश्मीर में तो रोजाना आतंकी घटनाएं होती रहती हैं। इसमें केंद्र की मंशा समझ नहीं आ रही है। ये झूठ बोलने वाली सरकार है। ऐसा कौन सा पहाड़ टूट रहा था कि 30 हजार से ज्यादा अतिरिक्त सैनिक भेजे गए। ऐसा लगता है कि ये वहां कोई बड़ा करना चाहते हैं, जिसके लक्षण नजर आ रहे हैं।

‘सोच-सामझकर निर्णय लेना चाहिए’

सिंह ने कहा की कश्मीर घाटी की संवेदनशीलता पर भाजपा को बहुत सोच समझकर काम करना चाहिए। यदि उन्होंने जबरदस्ती की तो देश को काफी नुकसान होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि भाजपा कश्मीर तो चाहती है पर कश्मीरियों को नहीं चाहती। 

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने सैलानियों और अमरनाथ यात्रा के श्रद्धालुओं को सुरक्षा कारणों से यात्रा छोड़कर बीच में लौटने के लिए एडवाइजरी जारी की थी। सैलानी और अमरनाथ यात्रा के श्रद्धालु शनिवार को कश्मीर घाटी से लौटने लगे हैं। जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने यह एडवाइजरी तब जारी की थी जब सेना ने शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तान के आतंकवादी अमरनाथा यात्रा को निशाना बनाने की साजिश रच रहे हैं।