4 मई को आएगा देश का सबसे बड़ा आईपीओ, बंपर कमाई करने का मौका, निवेश करने से पहले जान लें ये 5 शर्तें

नई दिल्लीः भारतीय जीवन बीमा निगम के आईपीओ का इंतजार खत्म हो गया है। मिली जानकारी के मुताबिक, एलआईसी का आईपीओ रिटेल निवेशकों के लिए 4 मई से लेकर 9 मई तक खुलेगा। वहीं, एंकर निवेशकों के लिए यह मेगा आईपीओ 2 मई को खुलेगा। उम्मीद के अनुरूप खुदरा निवेशकों और कंपनी के कर्मचारियों को प्रति शेयर 45 रुपये की छूट मिलेगी। वहीं, जीवन बीमा के पॉलिसी होल्डर्स को प्रति शेयर 60 रुपये की छूट मिलेगी। वैसे आधिकारिक तौर पर आज आईपीओ से जुड़ी सभी जानकारी की घोषणा की जाएगी। फिर भी अगर आप एलआईसी के पॉलिसी होल्डर हैं और आईपीओ में छूट पाना चाहते हैं तो आपको कुछ जानकारी होनी चाहिए। इसके बिना आप छूट पाने से चूक सकते हैं।

अगर पॉलिसी लैप्स हो गई है तो क्या?
अगर आपकी पॉलिसी लैप्स हो गई तो भी आप एलआईसी के आईपीओ में आवेदन कर सकते हैं। जीवन बीमा कंपनी के नियम के मुताबिक, जब तक कोई पॉलिसी परिपक्वता, सरेंडर या पॉलिसीधारक की मृत्यु के कारण एलआईसी रिकॉर्ड से बाहर नहीं हैं, पॉलिसीधारक एलआईसी के आईपीओ में आरक्षण के लिए पात्र हैं। यानी, उनको 60 रुपये प्रति शेयर की छूट मिलेगी।

एनआरआई पॉलिसीधारक हैं तो क्या?
जीवन बीमा कंपनी के नियम के मुताबिक, वैसे पॉलिसी धारक जो एनआरआई हैं या भारत में नहीं रहते हैं, वे आईपीओ में आरक्षण के लिए पात्र नहीं हैं। यानी, एनआरआई और भारत से बाहर रह रहे जीवन बीमा के पॉलिसी धारक को आईपीओ में 10ः शेयर आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा। उन्हें कोई छूट नहीं दी जाएगी।

ज्वाइंट एलआईसी पॉलिसीधारक हैं तो क्या?
अगर आपके पास एलआईसी की ज्वाइंट पॉलिसी है तो आप आरक्षण श्रेणी के तहत, दोनों में से केवल एक ही इक्विटी शेयरों के लिए आवेदन कर सकता है। यानी कोई एक व्यक्ति ही आरक्षण और छूट का लाभ ले सकता है। बीमा रिकॉर्ड में, आईपीओ के लिए बोली लगाने वाले आवेदक (आप या आपके पति/पत्नी) के पैन नंबर में संशोधन किया जाना चाहिए। आवेदक के पास अपने नाम पर एक डीमैट खाता होना चाहिए। अगर डीमैट खाता संयुक्त है तो आवेदक को पहला/प्राथमिक खाता धारक होना चाहिए।

ग्रुप एलआईसी पॉलिसीधारक हैं तो क्या?
ग्रुप पॉलिसी के अलावा सभी पॉलिसी धारक को आईपीओ में छूट लेने के लिए योग्य होंगे। यानी अगर आपके पास एलआईसी की ग्रुप पॉलिसी कंपनी से मिली है तो आप आरक्षण या छूट लेने के लिए पात्र नहीं होंगे।

डीमैट खाता होना जरूरी
अगर आप एलआईसी पॉलिसीधारक हैं और आईपीओ में निवेश करना चाहते हैं तो आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपकी पैन जानकारी एलआईसी के सिस्टम में मौजूद है और आपके पास एक डीमैट खाता है। बिना डीमैट खाता के आप एलआईसी के आईपीओ में निवेश नहीं कर पाएंगे।