मुख्यमंत्री और आईजी समेत 7 लोगों पर एफआईआर दर्ज, पुलिस पहले भेज चुकी थी समन, गोलीबारी से जुड़ा है मामला

गुवाहाटी: मिजोरम में हुई हिंसा मामले में मुख्यमंत्री और आईजी समेत छह अफसरों के खिलाफ FIR दर्ज किया गया है। ये मामला मिजोरम की पुलिस ने दर्ज किया है। मिजोरम में असम के सीएम और राज्‍य के छह वरिष्‍ठ अफसरों के खिलाफ हत्‍या का प्रयास और आपराधिक साजिश समेत दूसरी धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। यह एफआईआर शुक्रवार को कोलासिब जिले में दर्ज की गई। इससे दोनों राज्‍यों के बीच पहले से चल रहा सीमा विवाद और गहरा गया है। इसमें अब तक सात लोगों की जान जा चुकी है।

कोलासिब के वेरेंगटे पुलिस स्‍टेशन के इंस्‍पेक्‍टर एच ललछाविमाविया ने असम के सीएम हिमंता बिस्‍वा शर्मा, असम के आईजी अनुराग अग्रवाल, डीआईजी दिवोज्‍योति मुखर्जी, कछार के डीसी कीर्ति जल्‍ली, कछार के पूर्व एसपी वैभव चंद्रकांत निंबालकर, फॉरेस्‍ट ऑफिसर सन्‍नीदेव चौधरी, ढोलाई पुलिस स्‍टेशन इंचार्ज सहाबुद्दीन और असम पुलिस के 200 अज्ञात पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज किया है। सीएम समेत सभी को 1 अगस्‍त को पुलिस स्‍टेशन में हाजिर होने को कहा गया है।

इससे पहले असम पुलिस भी मिजोरम के छह अधिकारियों को समन भेज चुकी है। इन सभी से 2 अगस्‍त को ढोलाई पुलिस स्‍टेशन में हाजिर होने को कहा है। मिजोरम पुलिस ने 26 जुलाई को असम के अधिकारियों की टीम पर फा‍यरिंग कर दी थी जिसमे असम के पांच पुलिसकर्मियों और एक नागरिक की जान चली गई थी। एसपी समेत 50 से ज्‍यादा लोग घायल हो गए थे। इस झड़प के बाद दोनों राज्‍यों की सीमा पर केंद्रीय बलों को तैनात किया गया है।

ये भी पढ़ें :-   चरणजीत सिंह चन्नी ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, अंधविश्‍वास पर रखते हैं यकीन, हाथी की सवारी का किया था टोटका
  • Mats Advt