RAIPUR | राज्यपाल अनुसुइया उइके ने इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ के विभिन्न विभागों का अवलोकन व निरीक्षण किया, छात्रों की कला देख हो गई अभिभूत

रायपुर: इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ के नाट्य विभाग में नवगठित रंगमंडल के उद्घाटन अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचीं छत्तीसगढ़ की राज्यपाल व इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ की कुलाधिपति माननीय सुश्री अनुसुइया उइके ने विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों का अवलोकन व निरीक्षण किया।

राज्यपाल सुश्री उइके चित्रकला विभाग पहुंची, जहां विद्यार्थियों द्वारा मूर्तिकला और चित्रकला की प्रदर्शनी लगाई गई थी। विभिन्न कलाकृतियों को देखकर वे प्रसन्न हुईं। उन्होंने विद्यार्थियों के साथ वार्तालाप करते हुये उनका उत्साह वर्धन किया। इसके पश्चात राज्यपाल सुश्री उइके ने फैशन डिजाइनिंग विभाग में लगी प्रदर्शनी का निरीक्षण किया। वहां भी उन्होंने विद्यार्थियों से बातचीत की। राज्यपाल सुश्री उइके ने लोक संगीत विभाग का निरीक्षण किया, जहां छात्र छात्राओं ने उनका लोकगीत और लोक नृत्य के साथ स्वागत किया।

लोक संगीत विभाग में राज्यपाल व कुलाधिपति सुश्री उइके के समक्ष करमा गीत व गेड़ी नृत्य की प्रस्तुति दी गई। इस अवसर पर छात्र-छात्राओं ने राज्यपाल सुश्री उइके के साथ फोटो खिंचाई। लोक संगीत विभाग के निरीक्षण के बाद राज्यपाल सुश्री उइके विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी पहुंचीं, जहां पर 5000 रिकॉर्ड (तवा) संग्रहित करके रखे गए हैं। संग्रहित रिकॉर्ड के डिस्प्ले के अवलोकन के बाद वे दरबार हॉल पहुंचीं। उन्होंने वहां इस विश्वविद्यालय की स्थापना करने वाले राजा स्वर्गीय बीरेंद्र बहादुर सिंह और उनके पूर्वजों के चित्रों का अवलोकन किया।

राज्यपाल सुश्री पीके ने विश्वविद्यालय प्रांगण से लगे राधा कृष्ण मंदिर पूजा अर्चना की। इस दौरान विश्वविद्यालय की कुलपति पद्मश्री ममता मोक्षदा चंद्राकर, कुलसचिव प्रोफेसर आईडी तिवारी सहित समस्त विभागाध्यक्ष और विश्वविद्यालय के शिक्षक गण उपस्थित थे।