Business | नेस्ले के अधिकाश FOOD लोगों के लिए Unhealthy, कंपनी ने खुद स्वीकार की ये बात, कहा- हमारे कुछ प्रोडक्ट्स कभी भी सेहतमंद नहीं होंगे

An open packet of Maggi 2-Minute Noodles, manufactured by Nestle India Ltd., are arranged for a photograph inside a general store in Mumbai, India, on Tuesday, June 2, 2015. Nestle, one of India's biggest processed food makers, slid to the lowest in a month after a complaint was filed in a local court over lead levels in its Maggi instant noodles. Photographer: Dhiraj Singh/Bloomberg via Getty Images

नई दिल्ली: दुनिया की सबसे बड़ी फूड कंपनी नेस्ले का विवादों से पुराना रिश्ता है और एक बार फिर ये चर्चा में है। हालांकि इस बार नेस्ले ने खुद माना है कि उसके ज्यादा प्रोडक्ट सेहतमंद नहीं है। कंपनी के इंटरनल प्रजेंटेशन के दौरान नेस्ले ने बताया है कि उसके 60 फीसद से ज्यादा प्रोडक्ट स्वास्थ्य के मानकों को पूरा नहीं करते हैं।

नेस्ले ने एक डॉक्यूमेंट में कहा है, हमारे 60 फीसद से अधिक फूड और ड्रिंक्स श्स्वास्थ्य की मान्यता प्राप्त परिभाषा को पूरा नहीं करते हैं और हमारे कुछ प्रोडक्ट्स कभी भी सेहतमंद नहीं होंगे, चाहे हम इनमें कितना भी सुधार करते रहें।

फाइनेंशियल टाइम्स के अनुसार, नेस्ले के 37 फीसद फूड और ड्रिंक्स प्रोडक्ट्स की रेटिंग 3.5 है। इनमें जानवरों के फूड और मेडिकल न्यूट्रिशन शामिल नहीं हैं। ये रेटिंग ऑस्ट्रेलिया की हेल्थ स्टार रेटिंग सिस्टम ने दी है। ये रेटिंग सिस्टम फूड्स को 1 से 5 स्टार में स्कोर देती है और इसका इस्तेमाल एक्सेस टू न्यूट्रिशन फाउंडेशन अंतर्राष्ट्रीय समूहों में रिसर्च के लिए किया जाता है।

किटकैट चॉकलेट, मैगी, नूडल्स और नेसकैफे बनाने वाली कंपनी नेस्ले ने 3.5 स्टार को रिकॉग्नाइज्ड डेफनिशन ऑफ हेल्थ बताया है। अपने प्रजेंटेशन में नेस्ले ने कहा कि फूड और ड्रिंक पोर्टफोलियो में नेस्ले के लगभग 70 फीसद प्रोडक्ट जरूरी मानकों को पूरा करने में असफल रहे। इसमें शुद्ध कॉफी, को छोड़कर 96 फीसद ड्रिंक्स और 99 फीसद कन्फेक्शनरी और आइसक्रीम पोर्टफोलियो भी शामिल हैं।

वहीं रेंटिंग में पानी और डेयरी उत्पादों को बेहतर स्कोर मिला है। पानी ने 82 फीसद और डेयरी ने 60 फीसद मानकों को पूरा किया है। कंपनी की तरफ से कहा गया है, हमने अपने प्रोडक्ट्स में महत्वपूर्ण सुधार किए हैं लेकिन हमारा पोर्टफोलियो अभी भी स्वास्थ्य की परिभाषाओं में कमजोर है जहां रेगुलेटरी दबाव और उपभोक्ताओं की मांग आसमान छू रही है।

कंपनी का कहना है कि वो लगातार अपने न्यूट्रिशन स्टैंडर्ड में भी सुधार कर रहा है। नेस्ले के चीफ एग्जक्युटिव मार्क श्नाइडर ने ये माना कि लोग एक हेल्दी डाइट चाहते हैं, लेकिन उन्होंने इस दावे को खारिज कर दिया कि नेस्ले और अन्य बहुराष्ट्रीय कंपनियों द्वारा बनाए गए प्रोसेस्ड फूड अनहेल्दी होते हैं।

नेस्ले ने कहा है, कंपनी अपने न्यूट्रिशन और स्वास्थ्य रणनीति को अपडेट करने पर काम कर रही है। हम लोगों की सेहत ध्यान में रखते हुए पूरा पोर्टफोलियो को बदलने पर विचार कर रहे हैं ताकि लोगों को जरूरी न्यूट्रिशन और बैलेंस्ड डाइट दी जा सके।

नेस्ले ने कहा, हमारे प्रयास दशकों से किए जा रहे काम की मजबूत नींव पर बने हैं। उदाहरण के लिए हमने पिछले दो दशकों में अपने प्रोडक्ट्स में शुगर और सोडियम को काफी कम कर दिया है, पिछले 7 सालों में ये लगभग 14-15 फीसद रह गया है।