MURDER CASE | बेटी के जन्मदिन के ही दिन सिरफिरे ने की कुल्हाड़ी मारकर हत्या, पिता ने कहा- सोचा था बच्चा है मान जाएगा पर..

नई दिल्ली: ’सोचा था बच्चा है, मान जाएगा। समझ जाएगा लेकिन नहीं माना। अंत में उसने उसकी बेटी को मार ही दिया।’ यह कहना है 16 साल की मृतक नाबालिग लड़की के पिता का आरोपी प्रवीण के बारे में। जिसने सोमवार दोपहर को कुल्हाड़ी से इनकी नाबालिग बेटी के ऊपर कुल्हाड़ी से जानलेवा हमला कर दिया था। बेटी की मंगलवार को अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

रोते-बिलखते हुए मृतक नाबालिग के पिता ने बताया कि आज ही उनकी बेटी का जन्मदिन भी है और आज ही उसकी मौत हो गई। क्या करें, कुछ समझ नहीं आ रहा। अगर आज उनकी बेटी जिंदा होती तो घर में खुशियों का माहौल होता, लेकिन अब मां-बाप और छोटे भाई-बहन सभी का रो-रोकर बुरा हाल है। मृतका के छोटे भाई-बहन भी अपनी दीदी को याद करके रो रहे हैं।

चार भाई-बहनों में वह सबसे बड़ी थी। बहुत समझदार थी। पढ़ते-पढ़ते भी वह उनकी फल-सब्जी और बिजली की दुकान भी संभालती थी। क्योंकि घर में आमदनी कम थी। इसलिए उनकी बड़ी बेटी के अलावा छोटे बच्चे भी काम में बहुत साथ देते थे। अपने छोटे भाई-बहनों को भी वह पढ़ाती थी। अपनी हैसियत के हिसाब से हमने उसके जन्मदिन की तैयारी कर रखी थी। लेकिन क्या पता था कि जन्मदिन वाले दिन ही इतना बुरा हो जाएगा।

उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान काम-धंधा मंदा हो जाने पर उनकी एक एंबेसी में भी ठेके पर नौकरी लग गई थी। इसमें वह गार्ड या साफ-सफाई करने का, जो भी काम मिल जाता था। वह कर लेते हैं। साउथ कैंपस थाना इलाके की झुग्गियों में रहने वाले मृतक नाबालिग के पिता ने बताया कि सोमवार दोपहर को जिस वक्त उनकी बेटी पर कुल्हाड़ी से हमला किया गया। उस वक्त वह डयूटी पर थे। उन्हें वहीं इस बारे में पता लगा। आरोपी को पहले समझाया भी था। सोचा था कि बच्चा है, समझ जाएगा। लेकिन वह नहीं समझा और अंत में उसने उनकी बेटी की जान ही ले ली। आरोपी को समझाया था कि वह उनकी बेटी का पीछा ना करे। यह उम्र पढ़ने-लिखने की है, लेकिन वह नहीं माना।

मूलरूप से बिहार मधुबनी के रहने वाले पिता ने बताया कि वह दिल्ली में करीब 35 साल पहले आए थे। यहां मेहनत-मजदूरी करते हुए अपना परिवार चला रहे हैं। अब उनके साथ यह वारदात हो गई। परिजनों ने बताया कि एक बार आरोपी रात को शराब पीकर उनके घर आ गया था। यहां उसने खूब हंगामा किया था। उस वक्त उसे काफी समझाया गया। उन्होंने बताया कि मंगलवार को उनकी बेटी के शव का पोस्टमॉर्टम नहीं हो पाया। डॉक्टर और पुलिस ने बताया कि पोस्टमॉर्टम बुधवार को किया जाएगा।