REWIND 2019 | साल 2019 की पांच सुपरहिट वेब सीरीज जिन्होंने जिन्होंने एंटरटेनमेंट को डिजिटल कर दिया

वर्ष 2019: वेब शो ने भारत में डिजिटल एंटरटेनमेंट को पूरी तरह से बदल कर रख दिया है. 2019 भारत के लिए डिजिटल एंटरटेनमेंट का साल रहा. इस साल भारत में मनोरंजन के डिजिटल क्षेत्र में एक बड़ी छलांग देखी गई. वहीं 2020 में भी पहले से दिलचस्प वेब शो के आने की उम्मीद की दा सकती है.

नई दिल्ली : भारत में मनोरंजन की दुनिया में अचानक ही एक धमाका हुआ है. अब लोग टीवी धारावाहिकों की बजाय अपने स्मार्टफोन पर आने वाले वेब सीरीज जैसे अच्छे विकल्पों को चुन रहे हैं. टेलीविजन के लगभग सभी बड़े अभिनेता और निर्देशक मानते हैं कि साप्ताहिक से डेली सोप की शक्ल लेते ही धारावाहिकों ने जैसे सांस लेना ही बंद कर दिया है. बीते कुछ सालों में टीवी सीरियल देखने वाला एक बड़ा वर्ग इससे दूर जाता दिख रहा है. डिजिटल प्लेटफॉर्म स्मार्टफोन, लैपटॉप और आईपैड के बढ़ते इस्तेमाल ने मनोरंजन की दुनिया में एक नए दौर को जन्म दिया है.

बीते दो साल में हॉट स्टार, वूट, सोनी लाइव, नेट फिक्स और अमेजन प्राइम वीडियो लॉन्च होते ही खबरों में आ गए थे. इनमें न केवल फिल्में बल्कि दूसरे कार्यक्रम भी देखे जा सकते हैं. साथ ही साथ टीवी के लिए सीरियल बनाने वाले कई प्रोडक्शन हाउस इनके लिए वेब सीरीज और शॉर्ट फिल्में भी बना रहे हैं. इस साल कई वेब सीरीज हुई हैं जिन्होंने दर्शकों के बीच अपनी खास पहचान बनाई है. यहा हम इस साल रिलीज हुई वेब सीरीज के टॉप 5 वेब सीरीज के बारे में बताने जा रहे हैं. 2019 में इन वेब सीरीज ने सभी को अपना मुरीद बना लिया था.

कोटा फैक्टरी

द वायरल फीवर टीवीएफ चैनल ने ‘कोटा फैक्ट्री’ सीरीज को लॉन्च की थी. ‘कोटा फैक्टरी’ सोसाइटी और कोचिंग सैंटरों का वो चेहरा दिखाती है जिसे देख कर भी लोग अनदेखा कर देते हैं. पूरी सीरीज कोटा में रहने वाले उन स्टूडेंट्स पर आधारित है जो आईआईटी, आईआईएम जैसे बड़े इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए जद्दोजहद में लगे हुए हैं. कोटा फैक्टरी सीरीज की कहानी राजस्थान के शहर कोटा पहुंचने वाले छात्रों पर आधारित है. सीरीज छात्रों की मनोभावनाओं को सामने लाने की कोशिश करती है. जिससे अक्सर इन छात्रों के अभिभावक भी अनजान रहते हैं. कोटा फैक्टरी में दिखाया गया है कि छात्र माता पिता की उम्मीदों पर खरा उतरने के मानसिक दबाव में रह रहे हैं. साथ ही साथ इन छात्रों पर दूसरा दबाव अपने ही साथ के दूसरे छात्रों का भी रहता है. कोटा फैक्ट्री में दिखाया गया है कि यो एक फैक्ट्री है जिसमें एक तरफ से छात्र डाला जाता है, दूसरी तरफ से इंजीनियर निकल ही आएगा, इसकी कोई गारंटी नहीं.

दी फैमली मैन

‘दी फैमली मैन’ को अमेजॉन प्राइम पर रिलीज किया गया था. इस वेब सीरीज में मशहूर अभिनेता मनोज बाजपेयी एक खास भूमिका में नजर आए थे. इस वेब सीरीज में मनोज बाजपेयी ने आतंकवाद के खिलाफ बने स्पेशल विंग के सीनियर एजेंट का किरदार किया था. यह वेब सीरीज आतंकवाद पर आधारित है. इसमें दिखाया गया है कि कैसे एक मिडिल क्लास इंसान नौकरी के फर्ज और फैमिली की जद्दोजहद के बावजूद बेहतरीन संतुलन बनाकर रखता है. मिर्जापुर और सेक्रेड गेम्स 2 के बाद मनोज बाजपेई की ये वेबसीरीज लोगों को काफी पसंद आई थी.

मेड इन हेवन वेब सीरीज

‘मेड इन हैवन’ को एमेजॉन प्राइम वीडियो पर रिलीज किया गया था. इसके 9 एपिसोड ही रिलीज किए गए थे. केवल नौ एपीसोड में नौ-दस शादियों के बहाने यह वेब सीरीज हमारे समाज के दोहरेपन को उजागर कर देती है. ‘मेड इन हैवन’ का हर एसीसोड अपने आप में भी संपूर्णता लिए है. मेड इन हेवन दर्शकों को एक खुश और परेशान मुक्त दुनिया की झलक दिखाती है. साथ ही लोगों का यह भ्रम दूर करती है कि हर पहलू में अंधेरा और भयावह समाज कैसे हो सकता है.

गुल्लक

‘गुल्लक’ वेब सीरीज को सोनी लाइव पर रिलीज किया गया था. इस वेब सीरीज में हम दो हमारे दो वाला परिवार दिखाया गया है. जिसकी रोजमर्रा की जिंदगी और मिडिल क्लास फैमिली के उतार चढ़ाव को दिखाया गया है. सीरीज में जमील खान को छोड़ कोई नामी चेहरा ना होना ही इसकी सबसे बड़ी खासियत है. वहीं हर कलाकार अपने अलग अंदाज में सामने आता है. एपीसोड दर एपीसोड सीरीज दर्शकों में अपनी पकड़ बना लेती है.

दिल्ली क्राइम

एक सच्ची कहानी पर बनाई गई वेब सीरीज ‘दिल्ली क्राइम’ एक सफल वेब सीरिज बनकर उभरी है. ‘दिल्ली क्राइम’ का निर्देशन रिची मेहता ने किया है. दिल्ली क्राइम एक सात भागों वाली थ्रिलर वेब सीरीज है. जिसकी कहानी में 16 दिसम्बर 2012 को हुए निर्भया कांड से जैड़ कर दिखाया गया है.‘दिल्ली क्राइम’की सबसे खास बात ये है कि इसमें गैंगरेप की भयानक घटना को बिल्कुल नहीं दिखाया गया है. लेकिन उस रात क्या-क्या हुआ उस पर पुलिस पड़ताल की बनी ये वेब सीरिज काफी चर्चित रही थी.