SEX RACKET |पुलिस ने 8 लोगों को पकड़ा, ग्राहक बनकर पहुंचा सिपाही, जानिए फिर क्या हुआ

ग्वालियर : पुलिस ने एक मकान में चल रहे सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ कर दिया है. जानकारी के मुताबिक पुलिस ने छापा मरने के पहले एक सिपाही को ग्राहक बनाकर भेजा और मकान में कमरों के अंदर से तीन कॉल गर्ल्स और चार ग्राहकों को धर दबोचा है. बताया जा रहा है कि देह व्यापार का अड्‌डा चलाने वाली एक महिला है, जो ग्वालियर के अलग-अलग इलाकों से कॉल गर्ल बुलवाती थी.

यह मामला ग्वालियर के डीडी नगर का है, जहां घनी आबादी के बीच एक मकान में सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ है. पुलिस ने इस दौरान जावेद खान निवासी मेवाती मोहल्ला, दीपक बंसल निवासी तिकोनियां मुरार, खेमचंद साहू निवासी लक्ष्मीगंज, डीके राजपूत को गिरफ्तार किया है. मामले की जानकारी देते हुए सीएसपी महाराजपुरा रवि भदौरिया ने बताया कि- ‘डीडी नगर के जीएल सेक्टर स्थित मकान नंबर 1545 में कई दिनों से संदिग्ध गतिविधियां चल रही थीं. तीन दिन पहले एसपी नवनीत भसीन को वाट्सएप पर क्षेत्रवासियों ने शिकायत की. उन्होंने मुझे इसकी पड़ताल के लिए लगाया. इसके बाद महाराजपुरा थाने के तीन सिपाहियों की टीम को मकान के आसपास सिविल ड्रेस में लगाया गया. दो दिन तक वॉच करने के बाद जब यह पुष्टि हो गई कि मकान में दिनभर अलग-अलग लोगों का आना जाना रहता है, तब रविवार शाम करीब 4.30 बजे सिपाही को ही ग्राहक बनाकर वहां भेज दिया. मकान का दरवाजा एक महिला ने खोला. सिपाही ने ग्राहक बनकर बात की.

सीएसपी के मुताबिक, महिला ने सिपाही के सामने लड़कियों के फोटो रखे, फिर एक लड़की उसके सामने पेश कर दी. सिपाही ने महिला को बातों में उलझाया और एसएमएस कर दिया. कुछ ही देर में मैं और सीएसपी नागेंद्र सिकरवार व टीआई आसिफ मिर्जा वेग फोर्स के साथ पहुंच गए. पुलिस के पहुंचते ही महिला हंगामा करने लगी. जब मकान के दरवाजे खुलवाए तो उसमें तीन जोड़े संदिग्ध अवस्था में पकड़े गए.

सीएसपी रवि भदौरिया के मुताबिक, सेक्स रैकेट की मास्टरमाइंड महिला के पति की मौत हो चुकी है. एक साल पहले तक वह भिंड रोड स्थित एक चॉकलेट फैक्टरी में काम करती थी. यहां उसकी दोस्ती मनीष शाक्य निवासी कंपू से हुई. मनीष और वह लिवइन में रहने लगे. दोनों ने पांच महीने पहले डीडी नगर के जीएल सेक्टर में मकान नंबर-1545 अजीत यादव से किराए पर लिया था, जहां इन्होने देह व्यापार शुरू कर दिया.