CRICKET | शास्त्री सबसे अच्छे कोच, विराट अच्छे कप्तान, पर दोनों की टीम ने कोई भी ICC ट्रॉफी नहीं जीती

नई दिल्ली: टी-20 वर्ल्डकप में भारत ने अपने आखिरी मैच में नामीबिया को नौ विकेट से हरा दिया है। इसके साथ ही टीम इंडिया ने कोच शास्त्री और टी-20 कप्तान विराट कोहली को जीत के साथ विदाई दी। विराट कोहली का टी-20 कप्तान के रूप में यह आखिरी मैच था। साथ ही कोच रवि शास्त्री भी अब भारत के मुख्य कोच नहीं रहेंगे। अब राहुल द्रविड़ भारतीय टीम के मुख्य कोच होंगे। विराट वनडे और टेस्ट टीम के कप्तान बने रहेंगे और टी-20 में भी बतौर बल्लेबाज खेलेंगे, लेकिन कप्तानी नहीं करेंगे। विराट और शास्त्री की जोड़ी ने साथ में कई कीर्तिमान हासिल किए हैं। हालांकि यह जोड़ी भारत को कोई आईसीसी ट्रॉफी नहीं जिता पाई है।

इस वर्ल्डकप में भी टीम इंडिया ने भले ही जीत के साथ दोनों दिग्गजों को विदा किया, लेकिन सेमीफाइनल में न पहुंचने का मलाल सभी को होगा। वैसे तो टीम इंडिया से शास्त्री 2014 में ही जुड़ गए थे, लेकिन तब वह टीम डायरेक्टर थे। 2017 में शास्त्री टीम इंडिया के हेड कोच बने। तब से लेकर अब तक टीम ने कामयाबी की नई ऊंचाइयों को छुआ है। 

बतौर हेड कोच रवि शास्त्री की उपलब्धियां
ऑस्ट्रेलिया को उनकी जमीन पर टेस्ट में दो बार हराया।
40 महीने तक टेस्ट रैंकिंग में नंबर-1 रही भारतीय टीम।
टेस्ट में टीम इंडिया की रिकॉर्ड सात लगातार जीत।
दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में व्हाइट बॉल सीरीज में जीत।
लगातार चार टेस्ट मैचों में पारी से जीत हासिल करने वाली पहली टीम बनी भारत।

टेस्ट में भारत के सबसे सफल कोच हैं शास्त्री
रवि शास्त्री के कोच रहते भारत ने 43 में से 25 टेस्ट मैच जीते हैं और जीत का प्रतिशत 58.13 का है। वो भारत के सबसे सफल टेस्ट कोच हैं। उनके बाद जॉन राइट का नाम आता है। उन्होंने 52 में से 21 मैच जिताए। गैरी कर्स्टन ने 52 में 16 और डंकन फ्लेचर ने 39 में 13 मैच जिताए हैं। वहीं अनिल कुंबले ने 17 में 12 मैच जिताए हैं। 


सुपरहिट रही है शास्त्री और कोहली की जोड़ी
विराट कोहली और रवि शास्त्री की जोड़ी ने साथ में कमाल किया है। विराट के कप्तान और शास्त्री के कोच रहते भारत ने 39 टेस्ट मैच खेले हैं और 22 में जीत हासिल की है, जबकि 13 में उसे हार का सामना करना पड़ा है। टेस्ट में इस जोड़ी का जीत का रिकॉर्ड 56 फीसदी है। वहीं वनडे में इस जोड़ी ने भारत को 65 में से 43 मैच जिताए हैं और 20 मैच में भारत को हार नसीब हुई है। वनडे में इन दोनों ने मिलकर भारत को 66 फीसदी मैच जिताए हैं। टी-20 में भी इस जोड़ी का रिकॉर्ड शानदार है। विराट और शास्त्री ने साथ मिलकर भारतीय टीम को 50 में से 32 मैचों में जीत दिलाई है, जबकि 16 मैचों में भारत को हार का सामना करना पड़ा है। टी-20 में इस जोड़ी ने टीम इंडिया को 64 फीसदी मैचों में जीत दिलाई है।

वनडे में शास्त्री चौथे सबसे सफल कोच
वनडे में जॉन राइट ने 130 में से 68 मैच जिताए। फ्लेचर ने 108 में से 65 मैच जिताए। गैरी कर्स्टन ने 93 में से 59 मैच जिताए और 2011 वर्ल्डकप भी जिताया। शास्त्री ने 76 में से 51 मैच जिताए। उनका जीत का प्रतिशत 67.10 का है। टी-20 में शास्त्री ने 65 में से 43 मैच जिताए हैं। जीत का प्रतिशत 66.15 का रहा है। 

विराट का कप्तानी रिकॉर्ड 
विराट ने साल 2014 में भारतीय टेस्ट टीम की कमान संभाली थी। उनकी कप्तानी में भारत ने 65 टेस्ट मैच खेले हैं और 38 में जीत हासिल की है। वहीं 16 में उसे हार का सामना करना पड़ा है। जबकि 11 मैच ड्रा हुए हैं। वनडे में विराट 95 मैचों में कप्तान रहे हैं और 65 में जीत दिलाई, जबकि 27 मैचों में भारत हारा है। टी-20 में विराट ने 50 मैचों में कप्तानी की। इसमें से 30 में जीत मिली, जबकि 16 में हार का सामना करना पड़ा। दो मैच टाई रहे और दो का कोई नतीजा नहीं निकला।