हैवान पिता | बेटे की चाह में पत्नी और दो बेटियों को कुंए में फेंका, मारने के लिए उपर से फेंकने लगा पत्थर

छतरपुर: एमपी के छतरपुर जिले में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। बेटे की चाह में एक पिता हैवान बन गया है। उसने अपनी दो बेटियों और पत्नी को कुएं में फेंक दिया है। इसमें एक आठ साल की बेटी की मौत हो गई है। वहीं, पत्नी और तीन माह की बच्ची की जान बच गई है। महिला अपने बेटियों को कुएं में डूबने से बचाने की जब कोशिश कर रही थी, तब आरोप पति ऊपर से पत्थर फेंक रहा था।

मामला चंदला थाना क्षेत्र के पड़ोई गांव के पास का है। डढ़िया निवासी राजा भैया यादव अपनी पत्नी बिट्टी और दोनों बच्चियों को ससुराल से लेकर आ रहा था। इस दौरान गांव से पहले एक कुएं पत्नी और बेटियों को ढकेल दिया। आरोपी का ससुराल पन्ना जिले के लौलास गांव में है।

आरोपी किसी भी तरह से बेटियों और अपनी पत्नी को मारना चाहता था। यही वजह थी कि कुएं में धकेलने के बाद भी आरोपी उन पर पत्थर फेंकता रहा ताकि वह डूब जाएं। घटना में जहां 8 वर्षीय मासूम बच्ची की मौत हो गई है। वहीं पत्नी के सिर पर गंभीर चोट आई हैं लेकिन 3 माह की मासूम बच्ची को एक खरोंच भी नहीं आई और वह बाल-बाल बच गई। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया।

वहीं, बिट्टी यादव ने जैसे-तैसे अपनी 3 माह की मासूम बच्ची के साथ कुएं से निकलकर अपनी जान बचाई। उसके बाद राहगीर की मदद से चंदला थाने पहुंची। घटना के बारे में पूरी जानकारी महिला ने पुलिस को दी। महिला के पिता का कहना है कि उसका दामाद उसकी बच्ची के साथ कई बार मारपीट कर चुका है। उसने अब खौफनाक घटना को अंजाम दिया है।

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि जिस वक्त आरोपी राजा भैया यादव ने तीनों को कुएं में धकेला, तब बिट्टी बाई कुएं में तैरकर अपनी बेटियों की जान बचाने की कोशिश करने में लगी थी। वहीं, आरोपी ऊपर से बड़े-बड़े पत्थर इन पर फेंक रहा था। इसकी वजह से महिला का सिर फट गया लेकिन वह हिम्मत नहीं हारी। अपनी बेटियों को बचाने के लिए कोशिश करती रही। आरोपी पति को लगा कि तीनों मर गए तो वहां से फरार हो गया। महिला ने तीन माह की बच्ची की जान बचा ली है।

आरोपी राजा यादव बेटा चाहता था लेकिन उसकी पत्नी ने लगातार तीन बेटियों को जना था। इसकी वजह से वह लगातार पत्नी से मारपीट करता था। साथ ही मारने की धमकी देता था। पुलिस ने मामला दर्ज आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। मंझली बेटी घर पर थी इसलिए बच गई है।