DURG | पूर्व पार्षद ने मोबाइल दुकान में की थी लूटपाट, विरोध करने पर मार दिया था उस्तरा, पुलिस ने सभी आरोपियों का निकाला जुलूस


दुर्ग: मोबाइल दुकान में लूटपाट करने वाले और दुकान संचालक पर उस्तरा से हमला करने के आरोप में फरार चल रहे बीजेपी के पूर्व पार्षद को उसके तीन साथियों सहित गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद उनके कान पकड़कर शहर की सड़कों पर उनका जुलूस निकाल। जिसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया। मामला कोतवाली थाना क्षेत्र का है

मिली जानकारी के अनुसार 18 सितंबर को रात 8.00 बजे पूर्व पार्षद अजय दुबे अपने दो साथियों दीपेश व आकाश के साथ महाराजा चौक स्थित मोबाइल शॉप में पहुंचा। वहां उन्होंने ₹10000 की लूट की और उसके बाद दुकान के संचालक रोहित गुप्ता पर उस्तरा मार दिया। रोहित गुप्ता दुकान में हो रही लूटपाट का विरोध कर रहा था। उस्तरा के वार से रोहित के चेहरे, जांघ और कलाई पर गंभीर चोटें आई थी। पुलिस ने इस मामले में लूटपाट का मामला और हत्या के हत्या के मामले की धाराएं लगाई थी। जिसके बाद आरोपी आकाश सोशल मीडिया के जरिए रोहित को जान से मारने की धमकी दे रहा था।

पुलिस ने मामला बिगड़ता देख मालवीय नगर स्थित राहुल सिंह के घर से आकाश और उसके अन्य साथियों को गिरफ्तार किया। इस मामले में पुलिस ने संरक्षण देने पर राहुल को भी आरोपी बनाया है। आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद थाने से लेकर कोर्ट तक उनका जुलूस निकाला। आरोपी पार्षद ने बताया कि रोहित का जीजा विजय चांडक 90 लाख रुपए लेकर भाग गया है। काफी समय बाद जब रुपए नहीं मिले तो उसने रोहित पर हमला कर दिया।

आपको बता दें कि पूर्व पार्षद अजय दुबे के खिलाफ अलग-अलग थानों में 23 मामले दर्ज हैं। पिछले साल दिसंबर में उसे जिला बदर किया गया था।