BOLLYWOOD | 1971 में आई मशहूर फिल्म आनंद का बनेगा रिमेक, एक बार फिर हॉल में गूंजेगा बाबूमोशाय

मुंबईः साल 1971 में आई मशहूर बॉलीवुड फिल्म आनंद एक बार फिर दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए बड़े पर्दे पर प्रदर्शित की जाएगी। हाल ही में सामने आई खबरों के मुताबिक  हिंदी सिनेमा के दिग्गज अभिनेता राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन की फिल्म आनंद का रीमेक बनाया जा रहा है। 

मुंबईखबरों की मानें तो फिल्म की रीमेक स्क्रिप्टिंग स्टेज पर है। हालांकि, अभी तक इस फिल्म के निर्देशक को लेकर किसी तरह का कोई अंतिम फैसला नहीं किया गया है। समीर राज सिप्पी और विक्रम खाखर द्वारा निर्मित इस रीमेक फिल्म के बारे में अन्य विवरण अंडररैप हैं।  इस कल्ट क्लासिक फिल्म के रीमेक की खबर निश्चित रूप से लाखों दर्शकों के लिए एक खुशखबरी साबित होगी।

साल 1971 में रिलीज हुई फिल्म आनंद में राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन मुख्य भूमिका में थे। इस फिल्म में राजेश खन्ना ने कैंसर के एक मरीज का किरदार निभाया है, जो मुश्किलों के बावजूद हंस कर जिंदगी गुजारने में भरोसा करता है। वहीं अभिनेता अमिताभ बच्चन फिल्म में एक डॉक्टर के किरदार में नजर आए हैं। फिल्म में एक ऐसे इंसान की कहानी है जो मौत के सामने होते हुए भी जिंदगी बड़ी ही खूबसूरती से जीता है।

इस फिल्म का निर्देशन ऋषिकेश मुखर्जी ने किया था। यह फिल्म उस दौर की सुपरहिट फिल्मों में से एक थी। दर्शकों की तरफ से भी इस फिल्म को काफी पसंद किया था। ‘आनंद’ ने उस दौर में बॉक्स ऑफिस पर 0.98 करोड़ का बिजनेस कर सभी को चौका दिया था। 

यह फिल्म के अपने बेहतरीन डायलॉग, राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन की बेमिसाल एक्टिंग के लिए भी जानी जाती है। इस फिल्म के सभी डायलॉग को गुलजार ने लिखे थे। ‘बाबू मोशाय जिंदगी बड़ी होनी चाहिए लंबी नहीं।’ ‘मौत तो एक पल है..।’ ‘आनंद मरा नहीं, आनंद मरते नहीं।’ ‘ये भी तो नहीं कह सकता कि मेरी उम्र तुझे लग जाए।’ जैसे डायलॉग आज भी लोगों के जुबान पर चढ़े हुए हैं।

ये भी पढ़ें :-   BOLLYWOOD | रणबीर ने कहा- शादी के पहले चिकन-मटन, कबाब और चाइनीज खाता था, पर अब दाल-चावल खाने में ही मजा आता है, जानिए आलिया को लेकर ऐसा क्यों कहा