RAIPUR | आदिवासी समाज के नेता अरविंद नेताम ने सरकार पर निशाना साधा, कहा- जोर पकड़ सकती है छत्तीसगढ़ से अलग करने की मांग

जगदलपुर: पूर्व केंद्रीय मंत्री और आदिवासी समाज के नेता अरविंद नेताम ने फिर एक बार सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि बस्तर के हालात चिंताजनक हैं रावघाट में पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं से दुर्व्यवहार के मामले में भी उन्होंने कार्रवाई की मांग की।

उन्होंने कहा कि बस्तर संभाग के विभिन्न क्षेत्रों में आंदोलन धरना रैलियां हो रहे हैं और इन्हें दबाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने दोनों ही पार्टियों पर आदिवासी हितों की अनदेखी करने का आरोप लगाया उन्होंने यह भी कहा कि हालात बस्तर में इस कदर चिंताजनक है कि अलग राज्य की मांग स्थानीय लोगों में जोर पकड़ सकती है।

वहीं आदिवासी मुख्यमंत्री की मांग को लेकर भी पूर्व मंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस की सरकार जब तक राज्य में रहेंगे, तब तक आदिवासी चेहरे को मुख्यमंत्री बनने का मौका कभी नहीं मिल सकता। उन्होंने दोनों ही पार्टियों पर आदिवासी हितों की अनदेखी करने का आरोप लगाया उन्होंने यह भी कहा कि हालात बस्तर में इस कदर चिंताजनक है कि अलग राज्य की मांग स्थानीय लोगों में जोर पकड़ सकती है।