BOLLYWOOD | Delhi Crime 2 में काम करने वाले दिग्गज अभिनेता की हार्ट अटैक से मौत, गुमनामी में हुई Death, दोस्त ने दी जानकारी

नई दिल्लीः इन दिनों मनोरंजन जगत से लगातार बुरी खबरें सामने आ रही हैं। बीते दिनों टीवी एक्टर दीपेन शाह का निधन हो गया था। फिर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव को दिल का दौरा पड़ा, वह अब तक होश में नहीं आ सके। वहीं अब एक बार फिर एंटरटेनमेंट जगत से दुखद खबर सामने आई है। शैफाली शाह के साथ वेबसीरीज ‘दिल्ली क्राइम 2’ (Delhi Crime 2) नजर आए एक्टर दुर्गेश कुमार का निधन हो चुका है। गुमनामी में दुनिया से विदा लेने वाले इस एक्टर के दोस्त ने दी निधन की जानकारी है।

आपको बता दें कि इन दिनों चर्चा में बनी हुई सीरीज ‘दिल्ली क्राइम 2’ में एक्टर दुर्गेश कुमार नजर आए थे। उनका हाल ही में निधन हो गया है। सोशल मीडिया पर उनके दोस्त ने बताया है कि पिछले महीने उन्हें हार्ट अटैक आया था जिसके बाद वो कोमा में चले गए और फिर उनका निधन हो गया।

एक्टर के दोस्त ने दी जानकारी

दुर्गेश कुमार के दोस्त व एक्टर संदीप यादव ने फेसबुक पर यह दुखद जानकारी दी है। संदीप ने 19 सितंबर को फेसबुक पर पोस्ट लिखते हुए शोक व्यक्त किया है। उन्होंने लिखा, ‘अलविदा मेरे दोस्त दुर्गेश कुमार। एक कमाल अभिनेता, सुलझा हुआ आदमी, सहज, विनम्र और बेहद भावुक इंसान हमारा दोस्त Durgesh Kumar (NSD से पास आउट), आज इस दुनिया को अलविदा कह गया। पिछले दिनों दिल्ली क्राइम 2 देखी तो दुर्गेश उस सीरीज़ में था, सोचा फोन करूंगा लेकिन रह गया। कुछ दिनों पहले वो मुम्बई भी घूमने गया था, आज अनामिका ने बताया कि वो शिफ्ट भी होने वाले थे मुंबई। पता चला कि एक महीने पहले दिल्ली में उसे हार्ट अटैक आया था हॉस्पिटल में एडमिट कराया दोस्तों ने, धीरे धीरे तबियत बिगड़ती गयी वो कोमा में चला गया, बॉडी ने रिस्पॉन्स करना कम कर दिया था और आज उसने अन्तिम सांस ली।’

काफी अकेले थे अभिनेता

संदीप ने दुर्गेश के बारे में इस पोस्ट में बताते हुए आगे लिखा, ‘अकेला था बहुत वो, ये मैं जानता हूं, बहुत से लोग जानते हैं उसके बारे में….अकेलापन ही उसके लिए मुसीबत रहा होगा। ये कम उम्र में हार्ट अटैक आना क्यों है….समझ नहीं आता, कई बार बड़ी घबराहट होती है ये सब जानकर….। हम दोनों 2003 या 2004 में एनएसडी और संगीत नाटक अकादमी के संयुक्त तत्वावधान में लखनऊ में आयोजित बैक स्टेज की वर्कशॉप ( लाइट, कॉस्ट्यूम , मेकअप) में स्टूडेंट थे, वहीं दोस्ती हुई उससे। अब क्या कहूं.. ईश्वर तुम्हें शांति सुकून दें एक बेहतर दुनिया दें जहां तुम्हें चाहने वालों की कोई कमी न हो, तुम वो दुनिया बसा सको जो तुम सोचते थे दोस्त।’