कुछ देर का इंतजार और…फिर दस्तक देगा मानसून, जानिए कहां-कहां होगी आज जोरदार बारिश

नई दिल्‍ली: मॉनसून के भारत के दक्षिणी राज्‍यों से टकराने में अब ज्यादा देर नहीं है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने 31 मई को मानूसन के केरल पहुंचने की भविष्‍यवाणी की है। ताजा पूर्वानुमान में आईएमडी ने कहा कि तटीय केरल में सोमवार से मॉनसून के चलते बारिश शुरू हो सकती है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह तक मॉनसून 21 मई को ही पहुंच चुका था। आईएमडी के वरिष्ठ वैज्ञानिक राहुल एम ने कहा, केरल में 31 मई के करीब दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के लिए स्थितियां अनुकूल हैं। इसके पांच जून तक गोवा पहुंचने की उम्मीद है।

विभाग के मुताबिक, इस साल दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के सामान्य रहने की संभावना है। जून से लेकर सितंबर तक बारिश के आसार जताए गए हैं। पिछले महीने एक वर्चुअल ब्रीफिंग में, पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव माधवन राजीवन ने कहा था कि मॉनसून की लंबी अवधि का औसत (स्च्।) 98 प्रतिशत होगा, जो सामान्य श्रेणी में आता है। 1961-2010 के बीच मॉनसून में हुई बारिश का औसत है जो कि 88 सेंटीमीटर बैठता है। 98 के पूर्वानुमान का मतलब है कि इस साल मॉनसून सीजन के दौरान करीब 86.2 बारिश होगी।

अगर 10 मई के बाद, केरल के 14 मौसम केंद्रों पर लगातार दो दिन 2.5 मिलीमीटर या उससे ज्‍यादा की बारिश होती है, तो दूसरे दिन मॉनसून के आने की घोषणा कर दी जाती है। पिछले दिनों यह पैमाना पूरा हो चुका है। हालांकि इसके लिए कुछ और मानकों का पूरा होना भी जरूरी है। जिनमें तय कोऑर्डिनेट्स के बीच हवा की न्‍यूनतम रफ्तार, आउटगोइंग लॉन्‍गवेव रेडिएशन का स्‍तर शामिल हैं।

ये भी पढ़ें :-   दो दूल्हनों के साथ दूल्हे ने लिए फेरे, इस अनोखी शादी का गवाह बना पूरा गांव, पढ़िए लव ट्रायंगल की दिलचस्प कहानी

मॉनसून सीजन तब शुरू होता है जब दक्षिण-पश्चिम मॉनसून पहली बार केरल के दक्षिणी सिरे से टकराता है। वहां से आमतौर पर जून के पहले हफ्ते में और राजस्थान से सितंबर तक पीछे हट जाता है। इस साल मॉनसून के सामान्य रहने की संभावना 40 फीसदी है जबकि 21 फीसदी संभावना सामान्य से ऊपर है। यह लगातार तीसरा साल है, जब आईएमडी ने अच्छी बारिश की भविष्यवाणी की है।

पिछले महीने, निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्‍काईमेट वेदर ने कहा था कि दिल्‍ली में जून के आखिर तक मॉनसून पहुंच सकता है। सितंबर के महीने में दिल्‍ली में अच्‍छी-खासी बारिश हो सकती है। हालांकि बाकी सीजन के दौरान बारिश में 10-15 की कमी का अनुमान है। पिछले साल मॉनसून 30 सितंबर को गया था और बारिश 20 कम रही थी।