क्या फिर लगेगा लॉकडान? कोरोना के बढ़ते मामलों ने चिंता में डाले, पीएम मोदी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए मुख्यमंत्रियों से कर रहे बातचीत

नई दिल्ली: दुनिया के कई देशों के साथ ही भारत में भी एक बार फिर से कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ ली है। जिसे देखते हुए सरकार लगातार लोगों से सावधानी बरतने की अपील कर रही है, इसी क्रम में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बातचीत करने वाले हैं। बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण बढ़ते कारोना संक्रमण के संबंध में एक रिपोर्ट भी पेश करेंगे। पीएम मोदी दोपहर 12 बजे बैठक में हिस्सा लेंगे।

बीते रविवार को पीएम मोदी ने लोगों से कोरोना वायरस के खतरे के प्रति सतर्क रहने और इसके नियमों का पालन करते रहने की अपील की थी। अपने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में प्रधानमंत्री ने कहा था कि आने वाले दिनों में ईद, अक्षय तृतीया, भगवान परशुराम की जयंती और वैशाख बुद्ध पूर्णिमा त्योहार मनाए जाएंगे, उन्होंने देशवासियों को बधाई देते हुए कहा, ‘ये सभी त्यौहार संयम, पवित्रता, दान और सद्भाव के त्यौहार हैं। इन सबके बीच आपको भी कोरोना वायरस से सतर्क रहना होगा, मास्क पहनना, नियमित अंतराल पर हाथ धोना, रोकथाम के लिए जो भी आवश्यक उपाय हैं, उनका पालन करते रहें।’

चौथी लहर की आहट
केंद्रीय गृह मंत्रालयद्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, बीते दिन कोरोना के करीब 2900 नए मामले सामने आए जबकि देश में एक्टिव केस की संख्या 16 हजार के करीब है। दूसरी ओर जिन राज्यों ने कोविड के मामलों में वृद्धि दर्ज की है, उनमें दिल्ली, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, पंजाब और हरियाणा शामिल हैं।

इसी बीच कोरोना संक्रमण की चौथी लहर की चर्चा शुरू हो गई है, जिस तरह से दिल्ली और केरल जैसे राज्यों में नए केस बढ़ने की सूचना है, इसे संकेत माना जा सकता है ऐसे में एक बार फिर से लोगों में सीमित लॉकडाउन और कोरोना कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लगाने की चर्चाएं शुरू हैं।