प्राइवेट स्कूल और कॉलेज की गाड़ियों में आई खराबी, 1 सप्ताह का दिया गया अल्टीमेटम

फारूक मेमन
गरियाबंद।
विभिन्न निजी विद्यालय एवं महाविद्यालय के द्वारा छात्र-छात्राओं को लाने ले जाने वाले वाहनों की समुचित जांच की गई और उनमें विभिन्न खामियों के चलते उन्हें सख्त निर्देश देते हुए इसे एक सप्ताह के अंदर इन खामियों को दुरुस्त करने का निर्देश दिया गया। वाहनों में शारदा पब्लिक स्कूल ,एन्जल इंग्लिश स्कूल के साथ ही कुछ निजी स्कूलों की बस मिनी बस के साथ ही विभिन्न टैक्सी को बुलवाया गया था। इस मौके पर आर.टी.ओ. प्रभारी जितेंद्र भूषण ने चर्चे में कहा की विभिन्न वाहनों में अनेक खामियां है जिसे एक सप्ताह का समय देते हुए इसे सुधारने का निर्देश दिया जा रहा है।

दरअसल गरियाबंद जिले के मुख्यालय में विभिन्न निजी स्कूल व महाविद्यालय संचालित हो रहे है जो छात्र छात्राओं को लाने ले जाने हेतु अपनी स्वयं की निजी वाहन की व्यवस्था बनाए रखे हैं इसी के चलते वे गरियाबंद से 8 से 10 किलोमीटर की दूरी पर अध्यनरत छात्र-छात्राओं को लाने ले जाने का कार्य करते हैं। इसी कड़ी में इन वाहनों में अनेक खामियों के बीच इन बच्चों को लाया-ले जाया जा रहा है। उच्च न्यायालय के निर्देशों के अनुसार समय-समय पर इन वाहनों का समुचित निरीक्षण व निगरानी करना है इसी कड़ी में आज पुलिस विभाग द्वारा आरटीओ की मदद से गरियाबंद के निजी विद्यालय एवं महाविद्यालय में जो वाहन लाने ले जाने का कार्य करते हैं।

उन्हें आज गरियाबंद पुलिस लाइन में बुलवा कर उनकी समुचित जांच की गई जिसमें अनेक खामियां पाई गई। इस संबंध में आरटीओ अधिकारी जितेंद्र भूषण ने बताया कि विभिन्न वाहनों में अनेक खामियां हैं जिसे 1 सप्ताह के अंदर ठीक करने का निर्देश वाहन मालिकों वा स्कूलों को दिया जा रहा है अगर यह 1 सप्ताह के अंदर कमियों को दूर नहीं किया गया तो इन्हें जब्त कर लिया जाएगा, जिसकी संपूर्ण जवाबदारी विद्यालय के प्रबंधकों की होगी।