बजट 2019: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री बोले जुमलेबाजी तो BJP ने कहा विकास का बजट, पढिये क्या रहीं प्रतिक्रिया

रायपुर:
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बजट को निराशाजनक बताया है. उन्होंने प्रेस कॉंफ्रेंस करते हुए कहा कि यह वजह केवल जूमलेबाजी वाला बजट है, इससे लोगों को कोई विशेष फायदा नहीं दिख रहा है.

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिलों के लिए कुछ खास नहीं है जो अकांक्षी जिला है वहां भी कुछ नहीं है उन जिलों में रमन सिंह का भी जिला आता है. इसके अलावा मीडिल क्लास के लोगों को भी टैक्स से राहत नहीं दी गई है. पेट्रोल-डीजल एक रुपए महंगा कर दिया गया. हुआ. हर घर में जल या सड़क बनाने के लिए प्रतिशत अनुदान की मांग नहीं मानी गई.

युवाओं को रोजगार के अवसर कैसे मिलेंगे इसके लिए कोई संकेत नहीं है. धान के समर्थन मूल्य में 65 रुपये की वृद्धि ऊंट के मुह में जीरा है. रेलवे को भी पीपीटी मॉडल के रूप में ले जा रहे हैं, सबसे बड़े रोजगार का जरिया रेल है, जिसे प्रायवेट सेक्टर में ले जाने से लोगों से रोजगार छिन जाएगा.

उन्होंने कहा कि प्रति किसान 6 हजार के बदले 12 हजार देने का निवेदन और उम्मीद हमने सरकार से की थी, लेकिन पीएम किसान सम्मान निधि में इसे शामिल नहीं किया गया. सड़क बनाने के लिए स्टेट शेयर खासकर नक्सल क्षेत्रों में स्टेट शेयर जो शत प्रतिशत था उसे 60 :40 का रेशियो कर दिया गया था.

सीएम भूपेश ने कहा कि गांधी जी के नाम पर सिर्फ प्रचार कर रहे हैं. नक्सल प्रभावित जिलों के गांवों में अंतिम व्यक्तियों को ज्यादा से ज्यादा लाभ मिले इस तरह का कोई काम नहीं दिखाई दिया. इसे प्रचार ही दिख रहा है. अभी तक कौशल उन्नयन योजना जो आपने लागू की उनसे कितनो को रोजगार मिला, ये आंकड़े भी आप नहीं बता पाए.

जब तक छोटे उद्योगपतियों और मध्यम उद्योगपतियों के लिए योजना नहीं बढ़ाएंगे, तब तक रोजगार नहीं बढ़ेगा. सिर्फ योजनाओं का नाम बदलने से कुछ नहीं होता आप सिर्फ नाम बदल रहे है, योजना वही है. पेट्रोल डीजल में कोई कमी नहीं उनके दाम बढ़ेंगे.

BJP  ने बताया विकास का बजट


पूर्व वित्त मंत्री अमर अग्रवाल ने केंद्रीय बजट को विकास का बजट बताया है. अमर अग्रवाल ने कहा कि इसमें सामाजिक समरसता का ध्यान रखा गया. टैक्स के साथ मिडिल और आम आदमी का ध्यान रखा गया है. महिला समूह को लोन, छोटे व्यपारियों को एक करोड़ तक का लोन, बिना गारंटी के साथ होम लोन में छूट दी गई है. ये बजट देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने गांव, गरीब और किसानों की आय दोगुनी करने की व्यवस्था इस बजट में है. ये बजट सामाजिक सद्भावना को बढ़ाएगा और जल संरक्षण को महत्व दिया गया है. कांग्रेस के विरोध को लेकर कहा कि कांग्रेसियों का जब संकल्प पूरा होगा और दिखेगा तो कांग्रेसी भी उसको मानेंगे

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने केंद्रीय बजट को किसानों और गरीबों का बजट बताया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद मोदी को प्रदेश की जनता की ओर से जनकल्याणकारी बजट के लिए बधाई और धन्यवाद दिया है. बजट में युवा गरीब और शिक्षा के साथ जल संरक्षण पर ध्यान दिया गया है. पांच लाख तक कि छूट के साथ शहरी ग्रामीण क्षेत्र, आवास की बड़ी घोषण इस बजट की खासियत है. सरकार ने अपने संकल्प को पूरा किया है.

बजट को लेकर बिलासपुर सांसद अरुण साव ने कहा कि यह नया इंडिया का बजट है, जिसका दूरगामी प्रभाव दिखेगा. भारत का अर्थव्यवस्था सुदृढ़ होगा तो वहीं कांग्रेस द्वारा उठाए जा रहे इस सवाल का जवाब देते हुए कहा कि वो कांग्रेस पहले ही जो किसानों के लिए किए ऋण माफ़ी का वादा किया है, उसको पहले करके दिखाए. कांग्रेस बिना सोचे समझे सवाल उठाते रहते हैं. राजनांदगांव सांसद संतोष पांडे ने कहा कि इस बजट से अर्थव्यवस्था मजबूत होगा. विकास दर बढ़ेगा. यह बजट ग़रीब, आम नागरिक, किसान और जवान के लिए हैं.