19 साल की लड़की ने जुड़वा बच्चों को दिया जन्म, दोनों के पिता अलग-अलग, जानिए कैसे

Photo of my premature twin girls born eight weeks earlier. Their height is 42 cm, weight - 1.7 kg. They are holding hands.

नई दिल्लीः मेडिकल साइंस (Medical Science) आज के दौर में बहुत आगे बढ़ गया है. नई-नई तकनीक से वैज्ञानिक इंसान के शरीर में होने वाली जटिलताओं को आसानी से समझ रहे हैं. मगर कई बार कुछ ऐसा सामने आ जाता है, जिससे हर किसी को बेहद हैरानी होती है. खासतौर पर बच्चों का कंसीव होना और उनका जन्म ऐसी प्रक्रिया है, जो कई बार ऐसी घटनाओं की गवाह बनती है, जिसे देख-सुनकर इंसान दंग रह जाता है. 

दरअसल, पुर्तगाल (Portugal) में एक 19 साल की लड़की ने दो जुड़वां बच्चों को जन्म दिया है. जन्म के बाद बच्चों के डीएनए टेस्ट में जो कुछ सामने आया वो काफी हैरान करने वाला है. डीएनए टेस्ट (DNA Test) से पता चला कि दोनों ही बच्चों के पिता अलग-अलग हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये अपनी तरह का दुनिया का 20वां केस है. जिसमें जुड़वां बच्चों के पिता अलग-अलग निकले हों.

कुछ घंटों के अंतराल पर दो पुरुषों के साथ किया था सेक्स

बता दें कि इस तरह के केसे को मेडिकल साइंस की भाषा में हेट्रोपैरेंटल सुपरफेक्यूंडेशन (Heteroparental Superfecundation) कहा जाता है. पुर्तगाली मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह घटना गोइया राज्य के छोटे शहर माइनिरोस से है. इन बच्चों की मां ने खुलासा किया कि उसने दो पुरुषों के साथ कुछ घंटों के अंतराल पर सेक्स किया था. 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, महिला ने बताया कि बच्चों के जन्म के बाद उसने दूसरे व्यक्ति को डीएनए टेस्ट के लिए बुलाया था. संयोग से उसका टेस्ट दूसरे बच्चे से एकदम सटीक मैच हो गया. उस लड़की ने कहा कि मैं परिणामों से हैरान थी. मुझे नहीं पता था कि ऐसा हो सकता है जबकि दोनों बच्चे देखने में बहुत समान हैं. 

विशेषज्ञ ने क्या बताया?

इस असामान्य गर्भावस्था के तरीके पर डॉ. टुलियो जॉर्ज फ्रेंको रिसर्च कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि यह पूरी दुनिया मे हेटेरोपेरेंटल सुपरफेकंडेशन का केवल 20वां ज्ञात मामला है. डॉक्टर ने पुर्तगाली न्यूज आउटलेट G1 को समझाया कि ऐसी गर्भावस्था तब होती है जब एक ही मां के दो अंडे अलग-अलग पुरुषों से निषेचित होते हैं. बच्चे मां की जेनेटिक मेटेरियल को साझा करते हैं, लेकिन वे अलग-अलग प्लेसेंटा में बढ़ते हैं.