DANTEWADA ELECTION: कांग्रेस से कवासी और भाजपा की शिवरतन संभालेंगे कमान, दंतेवाड़ा में आचार संहिता प्रभावी

रायपुर :

छत्तीसगढ़ की दंतेवाड़ा विधानसभा सीट पर उपचुनाव की तरीख की घोषण के साथ ही कांग्रेस और भाजपा ने तैयारियां तेज कर दी है। कांग्रेस ने दंतेवाड़ा का जिम्मा मंत्री कवासी लखमा को दिया है, तो भाजपा ने विधायक शिवरतन शर्मा पर भरोसा जताया है।

कवासी लखमा ने कहा कि उम्मीदवारों के नाम को लेकर जल्द बैठक की जाएगी। वहीं, शिवरतन ने कहा कि पार्टी पदाधिकारियों और स्थानीय नेताओं के साथ मंथन के बाद उम्मीदवार के नाम पर मुहर लगेगी। बस्तर की 12 में से 11 विधानसभा सीट पर कांग्रेस विधायक हैं। चित्रकोट विधायक दीपक बैज के सांसद बनने के बाद यहां भी उपचुनाव होना है, लेकिन आयोग ने सिर्फ दंतेवाड़ा का ही चुनाव कार्यक्रम जारी किया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम बस्तर के पांच दिवसीय दौरे पर हैं। इस दौरान वे दंतेवाड़ा में पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। कांग्रेस अपनी सरकार के आठ महीने के कार्यकाल के दम पर मैदान में ताल ठोंकेगी। मरकाम ने बताया कि सरकार ने बस्तर के लिए सबसे ज्यादा काम किया है। आदिवासी वर्ग की जमीन को वापस करने के साथ ही कालेज खोलने की घोषणा की गई। हाट बाजार में दवाओं का वितरण किया जा रहा है। इन सभी मुद्दों को लेकर चुनाव मैदान में जाएंगे।

वहीं, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने बताया कि दंतेवाड़ा के लिए सहप्रभारी पूर्व मंत्री महेश गागड़ा को बनाया गया है। भाजपा विधायक भीमा मंडावी की नक्सली ब्लास्ट में मौत हुई थी। स्थानीय जनता पार्टी के साथ है। पिछले चुनाव में विषम परिस्थितियों में भी पार्टी को जीत मिली थी। इस पर बेहतर रणनीति के साथ मैदान में उतरेंगे। भाजपा सरकार के 15 साल के काम और मोदी सरकार की उपलब्धियों को लेकर जनता के बीच जाएंगे।

दंतेवाड़ा में आचार संहिता प्रभावी

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने बताया कि निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही दंतेवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में शामिल जिले दंतेवाड़ा और नारायणपुर में आदर्श आचार संहिता प्रभावशील कर दी गई है। विधानसभा क्षेत्र में 273 मतदान केंद्र हैं, जिनमें पांच पिंकबूथ (महिला मतदान केंद्र) स्थापित किया जाएगा। 256 सेवा मतदाताओं को मतपत्र जारी किए जाएंगे। उपचुनाव की तैयारी पूरी कर ली गई है। मतदाताओं की पहचान मतदाता फोटो परिचय पत्र एवं आयोग द्वारा मान्य अन्य दस्तावेजों के माध्यम से की जाएगी।