DURG | बेरोजगारी और आर्थिक तंगी के कारण पति-पत्नी ने फांसी लगाकर दे दी जान, सुसाइड नोट में लिखा- भाई और भाभी उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित करते थे

दुर्ग : छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में बेरोजगारी और आर्थिक तंगी के कारण पति-पत्नी ने कथित रूप से फांसी लगाकर जान दे दी है। दुर्ग जिले के पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को यहां बताया कि जिले में पुरानी भिलाई थाना क्षेत्र के जांजगीर गांव के सुशील यादव (35) और उसकी पत्नी अनिता यादव (33) ने कथित रूप से फांसी लगाकर जान दे दी। पुरानी भिलाई क्षेत्र के शहर पुलिस अधीक्षक विश्वास चंद्राकर ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली है कि जांजगीर गांव में सुशील यादव अपनी पत्नी के साथ गांव में किराए के मकान में रहता था। सोमवार दोपहर 12 बजे तक घर का दरवाजा नहीं खुला तब उसके मकान मालिक ने यादव को बाहर आने के लिए आवाज लगायी

चंद्राकर ने बताया कि कमरे से कोई आवाज नहीं आने पर मकान मालिक ने दरवाजे को धक्का देकर भीतर प्रवेश किया तो उसने ने देखा कि सुशील और उसकी पत्नी अनीता फांसी से लटके हैं। पुलिस अधिकारी ने बताया कि जब मकान मालिक ने घटना की जानकारी पुलिस को दी, तब पुलिस दल घटनास्थल पर पहुंचा और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने शव के करीब से दो पत्र बरामद किया है। माना जा रहा है कि पति पत्नी ने यह पत्र लिखा है। पत्र में लिखा है कि सुशील पिछले एक वर्ष से बेरोजगार था जिसके कारण उसके भाई और भाभी उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित करते थे। पत्र के अनुसार भाई-भाभी की तरफ परेशान करने के कारण उन्होंने पिता का घर छोड़ दिया था और किराए के मकान में रहते थे। पत्र में लिखा है वह अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें :-   RAIPUR | 3 वन सेवा अधिकारियों का तबादला, अरूण पांडे को अतिरिक्त प्रभार, ये रही पूरी सूची

चंद्राकर ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और मामले की जांच की जा रही है। वहीं, घटना के बाद मृतक के परिजन मौके पर पहुंच गए हैं।