सुसाइड नोट में लिखा- मां-पापा मेरा डॉक्टर बनने में कोई इंटर नहीं, और फिर लगा ली फांसी

कोटा: कोचिंग छात्रों द्वारा आत्महत्या करने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। आज एक बार फिर कोटा के बोरखेड़ा इलाके में एक कोचिंग छात्र ने पढ़ाई में मन नहीं लगने की वजह से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर मोर्चेरी में रखवाया। पुलिस ने मृतक छात्र के कमरे से सुसाइड नोट बरामद किया है। सुसाइड नोट में छात्र ने पढ़ाई में मन नहीं लगने की बात कही है।

कोटा में रहकर कर रहा था नीट की तैयारी
पुलिस ने बताया कि मृतक छात्र अभिषेक कुमार बिहार के गया का रहने वाला था। वह कोटा की एक कोचिंग संस्थान से नीट की तैयारी कर रहा था। मृतक छात्र ने सुसाइड नोट में काफी बातें लिखी हैं जिसमें उसने पढ़ाई में दवाब की बात के साथ अन्य लोगो द्वारा परेशान करने की बात कही है। वहीं पुलिस ने मृतक छात्र के परिजनों को घटना की जानकारी दे दी है। परिजनों के कोटा पहुंचने के बाद पुलिस शव का पोस्टमार्टम करवाएगी।

‘मम्मी-पापा मैं आपके बताए रास्ते पर नहीं चल सका’
मृतक के कमरे से मिले सुसाइड नोट में उसने अपने माता-पिता से मांफी मांगते हुए लिखा है कि ‘मम्मी पापा मैं आपके बताए हुए रास्तों पर नहीं चल सका और मेरा डॉक्टर बनने में कोई इंटरेस्ट नहीं है, ना ही मुझे पढ़ाई समझ में आ रही है।’ मैं आपसे माफी चाहता हूं कि आपके सपनों को पूरा ना कर सका और मौत को गले लगा रहा हूं। इसमें किसी का कोई दोष नहीं है मैं स्वंय की इच्छा से आत्महत्या कर रहा हूं।