आयुक्त महिला बाल एवं विकास ने पाई ‘रेडी टू ईट’ में अनियमितता, बठेना और पंडर के समूहों को काम से हटाया…

आयुक्त सह संचालक जनमेजय महोबे ने किया पाटन ब्लाक के गांवों की आंगनबाड़ियों का सघन निरीक्षण

रमेश गुप्ता

भिलाई : महिला एवं बाल विकास विभाग के आयुक्त सह संचालक  जनमेजय महोबे ने सोमवार को पाटन ब्लाक के गांवों की आंगनबाड़ियों का सघन निरीक्षण किया। कार्य में लापरवाही और अनियमितता पाए जाने पर उन्होंने पंडर और बठेना के रेडी टू ईट बनाने वाले स्वसहायता समूहों को हटाने के निर्देश दिए। निरीक्षण में श्री महोबे ने साफ-सफाई के संबंध में खराब स्थिति पाई, साथ ही रिकार्ड भी उचित तरीके से व्यवस्थित नहीं किये गये थे, इस पर श्री महोबे ने समूह को हटाने के निर्देश दिए।

आयुक्त ने मोतीपुर, खुडमुड़ी और टेकारी गांवों में आंगनबाड़ियों का सघन निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने सुपोषण मिशन के क्रियान्वयन की जानकारी भी ली। बच्चों को परोसे जाने वाले भोजन की गुणवत्ता देखी। कुपोषित बच्चों के बारे में जानकारी ली तथा सुपोषण मिशन आरंभ होने के बाद अब तक आई प्रगति के बारे में जानकारी ली। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने बताया कि बच्चों को सुपोषण मिशन के अंतर्गत एक्स्ट्रा सप्लीमेंट दिये जा रहे हैं। इसके साथ ही सामुदायिक भागीदारी के माध्यम से कुपोषण से लड़ने कार्य किया जा रहा है।

ग्रामीणजनों को कुपोषण की गंभीरता के संबंध में बताया जा रहा है तथा कहा जा रहा है कि कुपोषण से लड़ने के इस महती मिशन में जुड़ें। आयुक्त ने कहा कि कुपोषण से लड़ना बेहद अहम है। इसके लिए गृह भेंट आदि कार्यक्रम करें। साथ ही कुपोषित बच्चों के घर में भी पोषण के लिए उनकी माताओं और परिवारजनों को प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि ग्रामीणजनों से सहयोग से यह कार्यक्रम बेहतर तरीके से संचालित होगा। उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्र में होने वाली अन्य गतिविधियों की जानकारी भी ली, साथ ही आंगनबाड़ियों में रिकार्ड वगैरह का निरीक्षण भी किया। आंगनबाड़ी के अंतर्गत आने वाले कुपोषित बच्चों के लिए की जा रही विशेष पहल की भी उन्होंने जानकारी ली और कहा कि कुपोषण को शत प्रतिशत हटाने का लक्ष्य लेकर मिशन मोड में काम करें। इस दौरान जिला कार्यक्रम अधिकारी  विपिन जैन भी उपस्थित थे।