JANJGIR | एग्रीकल्चर छात्र अभिषेक पाल ने मिसाल किया कायम, कृषि में पढ़ाई के खेती करके हर साल लाखों रुपये कमा रहा

जांजगीर: जिले के नैला क्षेत्र के पाली के एग्रीकल्चर छात्र अभिषेक पाल ने मिसाल कायम किया है और कृषि में पढ़ाई के साथ केले की खेती करके हर साल लाखों रुपये कमा रहा है। अभिषेक के प्रयास की कृषि वैज्ञानिक और स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने भी तारीफ की है। रायगढ़ के एग्रीकल्चर कॉलेज के छात्र अभिषेक पाल ने अपने गांव पाली में 1 एकड़ में केले की खेती की है।

कोरोना काल में शुरू की खेती
दरअसल, कोरोना काल में जब ऑनलाइन पढ़ाई हो रही थी, तब अभिषेक ने कुछ अलग करने का सोचा और घर पर रहकर पढ़ाई के साथ केले की खेती शुरू की। अभिषेक की कोशिश ने रंग लाया और पिछले 3 साल में केले की खेती से अभिषेक को लाखों की आय भी हुई है। यही वजह है कि युवा और एग्रीकल्चर छात्र ने अब केले की खेती का रकबा बढ़ाने का मन बनाया है और गांव में ही दूसरी जगह पर भी खेती की तैयारी की जा रही है।

अच्छी आमदनी अर्जित कर रहा छात्र
जिस तरह अभी युवा खेती से दूर हो रहे हैं, वहीं अभिषेक पाल ने एग्रीकल्चर के छात्र होने के साथ ही खेती में रुचि दिखाया है और आमदनी में अर्जित कर रहा है। निश्चित ही युवाओं को अभिषेक पाल ने संदेश देने का बड़ा प्रयास किया है। अभिषेक के दोस्तों के साथ ही कृषि वैज्ञानिक और स्थानीय जनप्रतिधि ने भी केले खेती करने की तारीफ की है और दूसरे युवाओं के लिए मिसाल बताया है।

युवा कृषक अभिषेक पाल का कहना है कि रायगढ़ एग्रीकल्चर कॉलेज के प्राचार्य संजय कुमार सिंह का काफी मार्गदर्शन मिला है, उन्होंने हमेशा प्रोत्साहित किया है। स्थानीय कृषि वैज्ञानिकों के भी वह सम्पर्क में रहा है और अब आगे ज्यादा एरिया में केले की खेती करने की प्लानिंग की है।