डाबर ने नए विज्ञापन को लेकर जबरदस्त विवाद, समलैंगिक जोड़े ने मनाया करवाचौथ, लोगों ने कहा- ये हमारी संस्कृति के खिलाफ

नई दिल्ली: देश भर में आज यानी 24 अक्तूबर को करवाचौथ का त्योहार मनाया जाएगा। इससे पहले डाबर का एक नया विज्ञापन सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। विज्ञापन में दो युवतियों को एक साथ करवाचौथ मनाते दिखाया गया है। डाबर के उत्पाद फेम क्रीम गोल्ड ब्लीच द्वारा जारी किए गए इस विज्ञापन में एक महिला दूसरे के चेहरे पर ब्लीच लगा रही है।

दोनों इस त्योहार के महत्व और इसके पीछे के कारण पर भी चर्चा करती हैं। इस बीच एक और महिला इन दोनों की बातचीत में शामिल हो जाती है और दोनों को रात में पहनने के लिए एक-एक साड़ी देती है। विज्ञापन के अंत में दोनों महिलाओं को पारंपरिक छलनी और उनके सामने पानी से सजी एक थाली के साथ एक-दूसरे को देखते हुए दिखाया गया है, इससे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि वे एक-दूसरे की जीवनसाथी हैं। इस विज्ञापन को लेकर इंटरनेट पर अलग-अलग तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं।

एक यूजर ने लिखा, ‘वेलडन, फेम/डाबर! रूढ़िवादी ब्रांड द्वारा अक्सर आलोचना किए जाने वाले त्योहार के लिए एक अच्छी फिल्म।’ दूसरे यूजर ने लिखा, ‘वे पश्चिमी विचारों को दिखाकर हिंदू रीति-रिवाजों को बदनाम क्यों कर रहे हैं? यह हमारी संस्कृति के खिलाफ है।’ एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘यह देखकर बहुत अच्छा लगा कि समावेशी विज्ञापन केवल हिंदू त्योहारों और परंपराओं के साथ किए जा सकते हैं क्योंकि हिंदू धर्म भेदभाव नहीं करता है और सभी को स्वीकार करता है।’ बता दें कि करवाचौथ पर सुहागिन महिलाएं अपनी पति की दीर्घायु की कामना करती हैं।