मल्लिकार्जुन खड़गे ने पीएम मोदी की तुलना रावण से की, कहा- आपके पास रावण जैसे 100 सिर हैं? बीजेपी ने कहा- ये गुजरात के बेटे का अपमान है

नई दिल्लीः कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के पीएम मोदी (PM Modi) को लेकर दिए गए एक बयान पर बवाल मच गया है. खड़गे ने गुजरात में एक चुनावी रैली के दौरान पीएम मोदी के चेहरे पर वोट मांगने को लेकर तंज कंसते हुए सवाल किया था कि क्या आपके पास रावण जैसे 100 सिर हैं? इसके बाद बीजेपी ने कांग्रेस पार्टी पर तगड़ा पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस पार्टी ने गुजरात के बेटे का अपमान किया है. इस बयान के बाद बीजेपी ने गुजरात की जनता से कांग्रेस को सबक सिखाने की अपील की है.

मल्लिकार्जुन खड़गे का विवादित बयान
कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यन ने चुनावी भाषण में कहा, ‘ वो हर वक्त अपनी ही बात करते हैं. आप किसी को मत देखो. बस मोदी को देखकर वोट दो . अब तुम्हारी सूरत कितनी बार देखें. कारपोरेशन में तुम्हारी सूरत देखें. MLA इलेक्शन में तुम्हारी सूरत देखें. MP इलेक्शन में भी तुम्हारी सूरत देखें. हर जगह..कितने सर हैं.. क्या आपके रावण के जैसे 100 मुख हैं.’ इसी बयान पर बीजेपी के कई नेताओं ने एक सुर में कांग्रेस और खड़गे पर निशाना साधा है.

कांग्रेस नेता पहले भी दे चुके हैं ऐसा बयान
आपको बताते चलें कि ये कोई पहला मौका नहीं है जब किसी कांग्रेसी नेता ने पीएम मोदी के खिलाफ बयान दिया हो. इससे पहले भी पीएम मोदी, को ‘मौत का सौदागर’ और ‘चाय बेचने वाला’ जैसे संबोधनों से पुकारा जा चुका है. ऐसे कई नेता हैं जिन्होंने पीएम मोदी के खिलाफ विवादित बयान देते हुए अपनी बात कही थी.

पीएम को रावण कैसे कह सकते हैं: BJP
मल्लिकार्जुन खड़गे के बयान पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ‘कांग्रेस ने PM का अपमान किया है. गुजरात के बेटे का अपमान किया है, सोनिया गांधी ने PM को मौत का सौदागर कहा था. जबकि पीएम मोदी ने आतंकवाद को औकात दिखाई थी. कांग्रेस की गालियों की पूरी लिस्ट सामने है. आप पीएम को रावण कैसे कह सकते हैं.’

कांग्रेस नेताओं के बयान
आइए बताते हैं कि पीएम मोदी के खिलाफ इससे पहले कब-कब और कैसे-कैसे विवादित बयान दिए गए. हालांकि ऐसे बयानों ने कांग्रेस पार्टी के लिए बैक फायर का काम किया. कैसे आइए बताते हैं.

कब और किसने क्या कुछ कहा?
सोनिया गांधी : 2007, गुजरात चुनाव- मोदी झूठे, बेईमान, मौत के सौदागर हैं
प्रियंका वाड्रा : 6 मई 2014- मोदी ने मेरे पिता का अपमान किया, ‘नीच’ राजनीति का जवाब अमेठी के बूथ कार्यकर्ता देंगे.
राहुल गांधी : 6 अक्टूबर 2016- प्रधानमंत्री आप शहीदों के खून की दलाली कर रहे हैं.
राहुल गांधी : 20 सितंबर 2018- गली-गली में शोर है, हिंदुस्तान का चौकीदार चोर है.
मल्लिकार्जुन खड़गे : 28 नवंबर 2022- क्या PM मोदी के रावण जैसे 100 मुख हैं?
मधुसूदन मिस्त्री : 12 नवंबर 2022- गुजरात चुनाव में मोदी को औकात दिख जाएगी.
संजय निरूपम : 12 सितंबर 2018- जो बच्चे स्कूल- कॉलेज में पढ़ रहे हैं उन्हें मोदी जैसे अनपढ़-गंवार के बारे में जानकर क्या मिलेगा?
मल्लिकार्जुन खड़गे : जुलाई 2018- चायवाला (मोदी) इसलिये पीएम बन पाया क्योंकि हमने लोकतंत्र को संरक्षित रखा.
सिद्धारमैया : 24 अप्रैल 2018- पीएम मोदी को उत्तर भारत से आयात किया जा रहा है.
मणिशंकर अय्यर : 7 दिसंबर 2017- उस आदमी (मोदी) में कोई सभ्यता नहीं है, वो नीच किस्म का है.
अभिषेक मनु सिंघवी : नवंबर 2017- बीजेपी अशिष्ट, अशोभनीय बयानों की जननी है. मोदी खुद सीरियल एब्यूज़र हैं.
सलमान खुर्शीद : 17 अगस्त 2013- उनके (मोदी) बारे में क्या कहना, मेंढक अभी-अभी कुएं से बाहर निकला है.
मणिशंकर अय्यर : 2014 चुनाव से पहले- वो (मोदी) सिर्फ़ चाय बेच सकते हैं. बोलेंगे तो हम इंतज़ाम कर देंगे.
सलमान खुर्शीद : 26 फरवरी 2014- तुम (मोदी) सिर्फ़ हत्या के आरोपी नहीं हो. हमारा आरोप है तुम नपुंसक हो.
इमरान मसूद : 28 मार्च 2014- मोदी यूपी को गुजरात समझ रहा है, यहां 42% मुसलमान हैं, बोटी-बोटी कर दूंगा.
संजय निरूपम : अक्टूबर 2014- लोगों ने ‘बंदर’ के हाथों में देश चलाने को दे दिया है.

पीएम के लिए विवादित बयान…मतलब हार ?
गुजरात विधानसभा चुनाव 2007 के दौरान सोनिया गांधी ने मोदी को ‘मौत का सौदागर’ कहा. नतीजा- कांग्रेस चुनाव हारी, 59 सीट मिली.
वहीं लोकसभा चुनाव 2014 में मणिशंकर अय्यर ने मोदी को ‘चायवाला’ कहा था. नतीजा- चुनाव में हार, केवल 44 सीटें मिली.
यूपी विधानसभा चुनाव 2017 में राहुल का मोदी पर ‘खून की दलाली’ का आरोप. नतीजा- कांग्रेस को सिर्फ 7 सीटें हासिल हुईं.
लोकसभा चुनाव 2019 में राहुल गांधी ने कहा ‘चौकीदार चोर है.’ नतीजा- कांग्रेस चुनाव हारी, सिर्फ 52 सीट मिलीं.