साढ़े तीन मिनट में नहीं बना पास्ता, महिला कंपनी को कोर्ट तक घसीट कर ले गई, 40 करोड़ का ठोका केस, फिर…

नई दिल्लीः कुछ ही मिनट में फास्ट फूड के तैयार होने का दावा एक कंपनी के लिए भारी पड़ गया. फास्ट फूड कंपनियां अक्सर यह दावा करती हैं कि उनका खाना सीमित समय सीमा में तैयार किया जा सकता है और इस दावे पर लोग खरीदारी भी करते हैं, लेकिन जब ऐसा नहीं हो पाता तो कस्टमर काफी दुखी होते हैं.

मार्केटिंग की यह टेक्निक शायद कस्टमर को लुभाने के लिए ठीक है, लेकिन जब ऐसा संभव नहीं होता तो निगेटिव इम्पैक्ट हो सकता है. हालांकि, एक महिला इस दावे पर इतना गुस्सा हो गई कि उसने बड़ा कदम उठाने का फैसला किया. महिला ने पास्ता कंपनी को इस दावे पर कोर्ट तक घसीटकर ले गई कि सिर्फ साढ़े 3 मिनट में उसका पास्ता (PASTA) तैयार नहीं हुआ. आगे क्या हुआ इसके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए.

महिला ने पास्ता कंपनी पर ठोका मुकदमा
अमेरिका में फ्लोरिडा की रहने वाली एक महिला ने अमेरिकी फूड कंपनी क्राफ्ट हेंज (Kraft Heinz) पर 5 मिलियन डॉलर का मुकदमा दायर किया है, जिसकी कीमत भारतीय मुद्रा के अनुसार 40 करोड़ रुपये स भी अधिक है. औरत इस बात से गुस्सा थी, क्योंकि कंपनी यह दावा किया था कि पास्ता सिर्फ साढ़े तीन मिनट में तैयार हो जाएगा.

जब ऐसा नहीं हुआ तो महिला बेहद गुस्सा हो गई. अमेंडा रेमिरेज (Amanda Ramirez) नाम महिला ने इसी महीने 18 नवंबर को दायर अपने क्लास एक्शन मुकदमे में आरोप लगाया कि Kraft Heinz Company (KHC) ने यह कहकर संघीय कानून का उल्लंघन किया कि वेल्वेटा माइक्रोवेवबल मैक एंड चीज कप को तैयार करने में 3.5 मिनट लगते हैं, जबकि यह ऐसा नहीं है.

टाइम पर पास्ता नहीं तैयार होने पर उठाया सवाल
पैक किए गए बॉक्स में स्पष्ट रूप से लिखा है कि वेल्वेटा शेल्स एंड चीज 3½ (साढ़े तीन) मिनट में तैयार हो जाता हैं. मैकरोनी पास्ता को माइक्रोवेव में पकाने में लगने वाला समय साढ़े तीन मिनट से ज्यादा है. डब्लूएफएलए की रिपोर्ट के अनुसार, फ्लोरिडा के दक्षिणी जिले के लिए अमेरिकी जिला न्यायालय में दायर मुकदमे में कहा गया है कि पास्ता को तैयार होने में इससे भी अधिक समय लगता है क्योंकि इस प्रॉसेस में अन्य स्टेप्स भी शामिल हैं. महिला ने अक्टूबर और नवंबर 2022 के बीच $10.99 की कीमत पर मैक एंड चीज कप खरीदे, लेकिन इसमें यह नहीं दिया गया है कि महिला को पास्ता तैयार करने में कितना समय लगा.

कंपनी ने इस मुकदमे को बताया बेकार
कंपनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला हर्जाने के तौर पर 50 लाख डॉलर यानी 40 करोड़ 80 लाख रुपये की मांग कर रही है. क्राफ्ट हेंज कंपनी ने केस के बारे में एक मीडिया से इसे जबरदस्ती का मुकदमा बताया. अमेरिकी फूड कंपनी ने कहा, ‘इस बेकार के मुकदमे से हम अवगत हैं और शिकायत में लगे आरोपों का दृढ़ता से बचाव करेंगे.’