RAIPUR | बड़े अफसर का नाबालिग बेटा घर से गायब, नोट में लिखा- बड़ा अफसर बनकर दुखी रहूंगा, मेरी आइडियालॉजी कुछ अलग है

रायपुरः बड़ा अफसर बनकर दुखी रहूंगा। मेरी आइडियालॉजी कुछ अलग है। मैं जा रहा हूं, मुझे ढूंढने की कोशिश मत करना…कुछ इस तरह के नोट्स अपने परिवार वालों के लिए छोड़कर एक आईएफएस का बेटा दो दिनों से घर से गायब है। पुलिस का आधा अमला उसकी तलाश में लगा हुआ है, लेकिन कुछ पता नही चल पाया है। आईएफएस का 14 वर्षीय बेटा रविवार शाम से लापता है। वह दसवीं का छात्र है।

पुलिस के मुताबिक शाम ढलते ही नाबालिग अपने कमरे से बाहर निकला। वहां, उसकी बहन भी मिल गई। दोनों बातचीत करते हुए मकान के पोर्च में पहुंचे। वहां से नाबालिग पैदल ही बाहर निकल गया। उस समय बहन ने उसके जाने की तरफ ध्यान नहीं दिया। जब नाबालिग देर रात तक घर नहीं पहुंचा, तो आईएफएस और उनके परिवार वाले चिंतित हुए।

पुलिस अफसरों ने फिलहाल नाबालिग का घर में किसी से झगड़ा या विवाद होने से इनकार किया है। मोबाइल घर पर ही होने से तकनीकी जांच में भी पुलिस को फायदा नहीं मिल रहा है। पुलिस ने आसपास के जिलों के पुलिस को भी अलर्ट कर दिया है। उन्हें नाबालिग की जानकारी भेजी गई है।

परेशान परिजनों और पुलिस ने उसके सभी दोस्तों के घर जाकर पतासाजी की, लेकिन वहां भी उसका पता नहीं चला है। रातभर नाबालिग की तलाश चलती रही, लेकिन कहीं पता नहीं चला। सोमवार सुबह पुलिस कॉलोनी की प्रमुख गलियों और प्रमुख मार्गों पर सीसीटीवी कैमरों की जांच की। सोमवार देर रात तक भी नाबालिग का कुछ पता नहीं चल पाया है।

नाबालिग होने के कारण पुलिस मामले को गंभीरता से ले रही है। अपहरण का मामला दर्ज करने के बाद पुलिस की अलग टीम बनाई गई है, जिसमें एंटी साइबर एंड क्राइम यूनिट भी शामिल हैं। पुलिस माना, मंदिरहसौद, नवा रायपुर सहित आसपास के इलाकों के अलावा बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट के पास सीसीटीवी फुटेज की जांच में लगी है।