IVF के दौरान फयूजन में हुआ कन्फयूजन, बदल गया बेटे का बाप, कोर्ट में क्लिनिक के खिलाफ खटखटाया दरवाजा

नई दिल्ली: अमेरिका में आईवीएफ के दौरान फयूजन में हुई गलती ने एक शख्स को बड़ी परेशानी में डाल दिया। 12 साल बाद मजाक में जब उसने बेटे का डीएनए टेस्ट कराया, तो सच्चाई सामने आई। अब पीड़ित ने क्लिनिक के खिलाफ कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

अमेरिका के उटाह निवासी कपल डोना और वन्नेर जॉनसन के साथ जिंदगी बदल देने वाली घटना हुई। दो बेटों के माता-पिता बन चुके कपल के सामने 12 साल बाद बेटे को लेकर चौंकाने वाली सच्चाई सामने आई। दरअसल मजाक में जब वन्नेर ने बड़े बेटे का डीएनए टेस्ट कराया, तो पता चला कि वह उसका बेटा नहीं है।

डोना और वन्नेर जॉनसन पहले से ही एक बच्चे के पिता थे। वे दूसरा बेटा चाहते थे, जिसके लिए 2007 में आईवीएफ के जरिये उन्होंने दूसरी बार गर्भधारण किया था। इसमें भी वो बेटे के पेरेंट्स बने।

डोना और वन्नेर जॉनसन का परिवार पूरा हो गया था, जिसके बाद वे खुशहाल परिवार की तरह जीवन बिता रहे थे, लेकिन मजाक में कराए गए बेटे के डीएनए टेस्ट ने उनकी खुशियों को ग्रहण लगा दिया। दरअसल उनके 12 साल के बेटे का जन्म आईवीएफ के जरिये हुआ था, लेकिन जब रिजल्ट सामने आया तो पता चला कि आईवीएफ की प्रक्रिया के लिए शुक्राणु किसी और का लिया गया था। रिपोर्ट देखने के बाद कपल ने उस क्लिनिक पर केस दर्ज कराया, जहां से आईवीएफ कराया गया था।

वन्नेर ने बताया कि डीएनए टेस्ट रिपोर्ट में मां के नाम में डोना का नाम और पिता के नाम में अननोन लिखा था। यह देखकर बड़ा झटका लगा। जब मामले की जांच की गई, तो पता चला कि एग फ्यूजन में गलती हो गई और डोना के एग का फ्यूजन उसके पति के स्पर्म के साथ न होकर किसी और के साथ हो गया।

हालांकि ये सच्चाई जानने के बाद डोना और वन्नेर जॉनसन का दिल टूट गया है। उन दोनों ने मामले को लेकर कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। वहीं ये सच्चाई उन्होंने अपने बेटे को एक साल बताई, जिसके बाद उसके जैविक पिता को तलाश करना भी शुरू कर दिया गया है।

  • Mats Advt