लेबर पेन हुआ तो साइकिल से अस्पताल पहुंच गयी ये सांसद, एक घंटे बाद हुई डिलवरी, लोगों ने कहा- ऐसी मां को सलाम

नई दिल्ली: वो स्त्री है कुछ भी कर सकती है, बॉलीवुड फिल्म स्त्री का ये डायलॉग काफी बार बिलकुल सही साबित होता है। दरअसल, औरतों ने कई बार विषम परिस्थितियों में ऐसा कुछ कर दिखाया है जो पुरुषों के लिए सोच से भी परे होता है।

ऐसा ही कुछ हाल में न्यूजीलैंड में हुआ। यहां कोई और नहीं बल्कि एक महिला सांसद ने जिस तरह अपने बच्चे को जन्म दिया वह सुनकर सब हैरान रह गए। गर्भवती सांसद जूली एन जेंटर ने रात के 2 बजे लेबर पेन उठने पर साइकिल से ही अस्पताल की दौड़ लगा दी और कमाल की बात ये है कि एक घंटे के भीतर 3.04 बजे उन्होंने बच्चे को जन्म भी दिया।

जूली ने सोशल मीडिया को जरिए लोगों को ये जानकारी दी। उन्होंने फेसबुक पर साइकिल राइड से लेकर बच्चे के जन्म तक की कई तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा- बड़ी खबर! आज सुबह 3.04 बजे हमारे परिवार में एक नए सदस्य का स्वागत हुआ। मैंने अपना लेबर पेन साइकिल पर तो कभी नहीं सोचा था, लेकिन ऐसा हुई। हम जब अस्पताल के लिए निकले तो उतनी दिक्कत नहीं थी लेकिन अस्पताल की 2-3 मिनट की दूरी को पार करने में हमें 10 मिनट लग गए। और अब हमारे पास एक प्यारा स्वस्थ बच्चा है जो अपने पिता की गोद में सो रहा है। ख्याल रखने वाली इतनी अच्छी टीम पाना भाग्यशाली है, जिसके चलते डिलीवरी जल्दी हो सकी।

जूली के इस पोस्ट पर लोगों को जबरदस्त कमेंट आ रहे हैं। कोई कह रहा है- यकीन नहीं होता तो कोई कह रहा है- मां को सलाम। कई लोगों ने उन्हें नए बच्चे के लिए मुबारकबाद भी दी। एक महिला ने लिखा- मैं तो प्रेग्नेंसी में कार की सीट बेल्ट भी नहीं लगा पाती थी, आप कमाल हैं।

गौरतलब है कि न्यूजीलैंड की ही प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न भी हाल में अपनी बच्ची के चलते चर्चा में आईं थी। यहां उन्हें काम और परिवार के बीच शानदार सामंजस्य बैठाते देखा गया। दरअसल, पीएम जैसिंडा घर से ही एक फेसबुक लाइव के जरिए जनता से जुड़ी हुई थीं कि अचानक कैमरे के पीछे उन्होंने अपनी तीन साल की बच्ची को आते देखा।

बेटी को देखकर वे बोलीं- डार्लिंग इस समय तुम्हें बेड पर होना चाहिए। ये बेड टाइम है। फटाफट जाओ मैं अभी आती हूं। इसके आगे उन्होंने अपने लाइव से जुड़े लोगों से कहा- माफ कीजिएगा, ये बेडटाइम फेल हो गया। ऐसे कहकर वे हंसने लगीं। जैसिंड के इस लाइव पर लोगों ने खूब शानदार प्रतिक्रियाएं दी थीं।