थाने में हो रही कुत्ते की देखभाल; कूलर की भी व्यवस्था की गई, जानिए क्या है मामला

बीना:

यहां के पुलिस थाने में इन दिनों एक अलग नजारा देखने मिल रहा है। थाने के चार सिपाही एक लेब्राडोर नस्ल की देखभाल में लगे हैं। सुबह-शाम घुमाना, फिर समय से खाने की व्यवस्था इतना ही नहीं सोने के लिए उम्दा व्यवस्था करना भी इनकी ड्यूटी में शामिल हो गया है। थाने में बकायदा इसके लिए कूलर की व्यवस्था भी की गई है।

दरअसल, यहां के गणेश वार्ड निवासी मनोहर अहिरवार और उसके पुत्र प्रशांत व प्रवीण ने 21 जून की रात गोली मारकर अपने ही पांच परिजन की हत्या कर दी थी। पुलिस ने इस मामले में मनोहर, प्रशांत, प्रवीण के अलावा मनोहर की पत्नी और दो बेटियों को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। घर के सभी सदस्यों के जले जाते ही घर में कुत्ता ‘जिमी’ अकेला रह गया।

लेब्राडोर प्रजाति का पालतू कुत्ता ‘जिमी’ तीन दिन तक घर के अंदर भूख-प्यास से बेहाल पड़ा रहा। उसकी आंखों से आंसू बह रहे थे। पड़ोसियों ने ये बात पुलिस को बताई। थाने के सिपाही हकीकत जानने घर पहुंचे तो उन्हें भी उसकी हालत देखकर दया आ गई। उन्होंने पूरा वाकया थानाधिकारी को बताया। इसके बाद सिपाहियों ने दो दिन तक उसको दूध, रोटी और बिस्किट उसको घर जाकर ही खिलाए। जब जिमी पुलिसवालों को अच्छे से पहचानने लगा तो वे उसे अपने साथ पुलिस थाने लेकर आए।  अब जिमी का बसेरा पुलिस थानें में है।

पुलिस ने पहले रिश्तेदारों और पड़ोसियों से रखने कहा: जब पुलिस जिमी के घर पहुंची तो उन्होंने जिमी के मालिकों के रिश्तेदारों और पड़ोसियों से उसे रखने कहा। लेकिन कोई तैयार नहीं हुआ। भूख-प्यास  के कारण उसकी हालत खराब हो रही थी। इसके बाद पुलिसकर्मी उसे थाने लेकर आ गए जहां उसकी बेहतर तरीके से देखरेख की जा रही है।